Wednesday, February 1निर्मीक - निष्पक्ष - विश्वसनीय
Shadow

RBI ने ब्याज दरें 0.35% बढ़ाईं:20 साल वाले 30 लाख के लोन पर करीब 1.55 लाख रु. ज्यादा चुकाने होंगे

नई दिल्ली. बढ़ती महंगाई से चिंतित भारतीय रिजर्व बैंक (RBI) रेपो रेट में 0.35% का इजाफा किया है। इससे रेपो रेट 5.90% से बढ़कर 6.25% हो गई है। यानी होम लोन से लेकर ऑटो और पर्सनल लोन सब कुछ महंगा हो जाएगा और आपको ज्यादा EMI चुकानी होगी।

ब्याज दरों पर फैसले के लिए 5 दिसंबर से मॉनेटरी पॉलिसी कमेटी की मीटिंग चल रही थी। RBI गवर्नर शक्तिकांत दास आज बुधवार को प्रेस कॉन्फ्रेंस में ब्याज दरों से जुड़ी घोषणा की। इससे पहले सितंबर में हुई मीटिंग में ब्याज दरों को 5.40% से बढ़कर 5.90% किया गया था।

5 बार में 2.25% की बढ़ोतरी
मॉनेटरी पॉलिसी की मीटिंग हर दो महीने में होती है। इस वित्त वर्ष की पहली मीटिंग अप्रैल में हुई थी। तब RBI ने रेपो रेट को 4% पर स्थिर रखा था। लेकिन RBI ने 2 और 3 मई को इमरजेंसी मीटिंग बुलाकर रेपो रेट को 0.40% बढ़ाकर 4.40% कर दिया था।

22 मई 2020 के बाद रेपो रेट में ये बदलाव हुआ था। इसके बाद 6 से 8 जून को हुई मीटिंग में रेपो रेट में 0.50% इजाफा किया। इससे रेपो रेट 4.40% से बढ़कर 4.90% हो गई। फिर अगस्त में इसे 0.50% बढ़ाया गया, जिससे ये 5.40% पर पहुंच गई। सितंबर में ब्याज दरें 5.90% हो गई। अब ब्याज दरें 6.25% पर पहुंच गई है।

RBI गवर्नर के संबोधन की बड़ी बातें

  • महंगाई अभी भी चिंता का कारण बनी हुई है।
  • MPC के 6 में से 5 सदस्यों ने दरें बढ़ाने के पक्ष में वोट किया
  • 6 में से 4 सदस्य अकोमोडेटिव रुख वापस लेने के पक्ष में
  • अगले 12 महीने तक महंगाई 4% से ऊपर रहने की संभावना
  • महंगाई के अभी भी तय लक्ष्य से ऊपर रहने के आसार
  • FY23 में महंगाई दर अनुमान 6.7% पर बरकरार
  • ग्रामीण मांग में सुधार देखने को मिल रहा है
  • बैंक क्रेडिट में 8 महीने से डबल डिजिट में
  • FY23 में GDP ग्रोथ अनुमान 7% से घटाकर 6.8% किया
  • लिक्विडिटी को लेकर कोई दिक्कत नहीं आने देगा RBI