Tuesday, December 6निर्मीक - निष्पक्ष - विश्वसनीय
Shadow

EV एक्सपो 2021 शुरू:इवेंट में 80 कंपनियां शामिल हो रहीं, इसमें ज्यादातर बैटरी बनाने वाली; 48 हजार में 150km चलने वाली बाइक बटोर सकती है सुर्खियां

नई दिल्ली

देश की राजधानी नई दिल्ली में आज (6 अगस्त) से 11वां इलेक्ट्रिक व्हीकल एक्सपो शुरू हो चुका है। ये इवेंट 8 अगस्त तक चलेगा। फरवरी 2020 के बाद से देश में होने वाला ये पहला एक्सपो भी है। इस इवेंट के दौरान देश की कई कंपनियां अपने ई-व्हीकल, बैटरी और इनसे जुड़ी एक्सेसरीज को पेश करेंगी।

2015 से इस इवेंट को ऑर्गनाइज अल्टीअस ऑटो सॉल्यूशन (Altius Auto solutions) कंपनी कर रही है। आइए कंपनी के फाउंडर राजीव अरोड़ा से ही जानते हैं कि इस बार का इवेंट कैसा होने वाला है…

इस इवेंट का आयोजन कैसे किया जाता है?
अल्टीअस ऑटो सॉल्यूशन इस एक्सपो को ऑर्गनाइज करती है। इवेंट के लिए मिनिस्ट्री ऑफ रोड ट्रांसपोर्ट, ICAT, MSME, NSIC का सपोर्ट मिलता है। 2015 से लगातार अल्टीअस इस इवेंट का आयोजन कर रही है। आखिरी आयोजन 2019 में हुआ था। कोरोना महामारी की वजह से 2020 में इसका आयोजन नहीं किया गया। इस बार के लिए हमारी पूरी तैयारी हो चुकी है।

इस बार एक्सपो में कितनी कंपनियां शामिल हो रही हैं?
एक्सपो में कुल 80 कंपनियां शामिल हो रही हैं। इनमें चीन और जापान की भी 4 कंपनियां हैं, लेकिन इन सभी के ऑफिस हमारे देश में हैं। वैसे हर साल एक्सपो में करीब 200 कंपनियां शामिल होती हैं, जिसमें 40 प्रतिशत तक कंपनियां बाहर की होती हैं, लेकिन इस बार कोविड की वजह से कम ही कंपनियां शामिल हो रही हैं।

एक्सपो में ज्यादातर कंपनियों का फोकस कहां रहेगा?
सरकार ने बीते महीने ई-स्कूटर पर सब्सिडी को बढ़ाकर डेढ़ गुना कर दिया है। यानी पहले जहां प्रति किलोवॉट बैटरी पर 10,000 रुपए की छूट मिल रही थी, उसे बढ़ाकर 15,000 रुपए कर दिया गया है। इसी वजह से ज्यादातर कंपनियों का फोकस ई-स्कूटर की तरफ हो गया है। इसमें करीब 20 कंपनियां ई-स्कूटर की रहेंगी। वहीं, कुछ कंपनियां ई-रिक्शा और ई-ऑटो की शामिल हो रही हैं। हालांकि, इलेक्ट्रिक फोर-व्हीलर बनाने वाली कोई भी कंपनी नहीं आ रही।

बैटरी बनाने वाली कितनी कंपनियां इवेंट में शामिल हो रही हैं?
अब ई-स्कूटर का प्रोडक्शन बढ़ रहा है, जिसकी वजह से बैटरी बनाने वाली कंपनियों की संख्या भी बढ़ रही है। हालांकि, सरकार द्वारा जो सब्सिडी मिल रही है वो सिर्फ लिथियम बैटरी पर ही दी जा रही है। इसी वजह से एक्सपो में लगभग 25 कंपनियां लिथियम बैटरी से जुड़ी शामिल हो सकती हैं।

क्या इवेंट में सस्ती ई-बाइक और ई-स्कूटर लॉन्च होगा?
इस एक्सपो में अल्टीअस भी स्प्लेंडर जैसी फैमिली बाइक लेकर आ रही है। इसे 6 अगस्त को इवेंट में लॉन्च किया जाएगा। सब्सिडी के साथ इसकी कीमत करीब 48 हजार रुपए होगी। ये बाइक सिंगल चार्जिंग के बाद 140 से 150 किमी तक की रेंज देगी। इसी तरह कंपनी एक इलेक्ट्रिक स्कूटर भी लॉन्च कर रही है, जो सिंगल चार्ज पर 110 किमी तक की रेंज देगी। ये सब्सिडी के साथ ग्राहक को करीब 35,000 रुपए में मिलेगा।

विजिटर्स को लेकर एक्सपो में क्या तैयार की गई हैं?

सरकार द्वारा जारी की गई गाइडलाइन के मुताबिक, प्रति 3 स्क्वायर मीटर में एक विजिटर आ सकेगा। वहीं, इस इवेंट को 5500 स्क्वॉयर मीटर में किया जा रहा है। तो इसी हिसाब से विजिटर्स को एंट्री दी जाएगी। विजिटर्स के लिए एंट्री एकदम फ्री रहेगी। इस बात की कोशिश की जाएगी कि जो विजिटर्स गाड़ियां देख चुके हैं उन्हें हॉल से बाहर किया जाएगा।

लोग ई-व्हीकल की तरफ क्यों जाएं?
पेट्रोल की बढ़ती कीमतों के बीच ई-व्हीकल की डिमांड तेजी से बढ़ रही है। ये पर्यावरण के लिए भी अच्छे होते हैं। पेट्रोल और ई-स्कूटर की तुलना की जाए तो पेट्रोल से चलने वाला कोई भी स्कूटर 2 रुपए प्रति किमी तक पड़ता है। वहीं, ई-व्हीलल 10 पैसे प्रति किमी पड़ता है। सबसे बड़ी बात इसमें किसी तरह का मेंटेनेंस नहीं है। तो ऐसे में ज्यादा से ज्यादा लोगों को ई-स्कूटर की तरफ जाना चाहिए।

2015 के बाद से अब तक एक्सपो में क्या बदला है?
2015 में 80 फीसदी डिस्प्ले चीनी प्रोडक्ट का होता था। ई-रिक्श, टू-व्हीलर, फोर-व्हीलर सभी चीन से मंगाए जाते थे। 2019 तक आते-आते ये चीजें एकदम उलट हो गईं। अब एक्सपो में चीनी कंपनियों के डिस्प्ले 20 प्रतिशत भी नहीं रह गए। यानी व्हीकल ही नहीं, बल्कि उसमें इस्तेमाल होने वाले कम्पोनेंट्स भी अब भारत में ही तैयार हो रहे हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *