Friday, December 9निर्मीक - निष्पक्ष - विश्वसनीय
Shadow

9 साल का इंतजार खत्म:जिला परिषद में कनिष्ठ लिपिकों के 243 पदों पर नियुक्ति के लिए चयन सूची जारी, जल्द मिलेंगे आदेश

बीकानेर. बीकानेर के करीब ढाई सौ परिवारों में इन दिनों खुशी का माहौल है। पिछले नौ साल से संघर्ष कर रहे बेरोजगारों को आखिरकार सरकारी नौकरी मिलने जा रही है। पिछले नौ साल से ये बेरोजगार अदालतों के चक्कर काट रहे थे लेकिन अब राज्य सरकार ने इनको नियुक्ति देने का रास्ता साफ कर दिया है। प्रदेशभर की जिला परिषदों में कनिष्ठ लिपिकों के वर्ष 2013 की नियुक्ति प्रक्रिया अब पूरी हो रही है।

बीकानेर जिला परिषद् ने 243 पदों पर नियुक्ति के लिए चयन सूची जारी कर दी है। पिछले दिनों अस्थायी सूची जारी की गई थी, इस आधार पर केंडिडेट्स से डॉक्यूमेंट लिए गए। जिन केंडिडेट्स के डॉक्यूमेंट सही पाए गए और पात्र थे, उनकी सूची अब जारी की गई है। जिन 243 केंडिडेट्स के नाम इस लिस्ट में आए हैं, उन्हें अगले कुछ दिन में पंचायत समिति आवंटित करते हुए नियुक्ति और पदस्थापन किया जाएगा। इससे न सिर्फ बेरोजगारों को नियुक्ति मिलेगी, बल्कि पंचायत समितियों में भी कनिष्ठ लिपिक उपलब्ध हो सकेंगे। सभी ब्लॉक अपने स्तर पर अब नियुक्ति आदेश जारी करेंगे, ये प्रक्रिया अगले सप्ताह तक पूरी हो जाएगी। सोमवार-मंगलवार तक आदेश जारी होते हैं तो कुछ दिनों में ही सभी केंडिडेट्स ज्वाइन कर लेंगे।

इन नियुक्तियों के साथ ही बीकानेर पंचायत समिति को 13, श्रीडूंगरगढ़ को 45, पूगल को 29, पांचू को 24, नोखा को 27, लूणकरनसर को 33,श्रीकोलायत को 31, खाजूवाला को 17, बज्जू को 22 और जिला परिषद् मुख्यालय को महज दो कनिष्ठ लिपिक मिल सकेंगे।

अब पोस्टिंग की दौड़ शुरू

नियुक्ति के बाद पसंदीदा स्थान पर नियुक्ति पाने के प्रयास शुरू हो गए हैं। जिला प्रमुख मोडाराम मेघवाल का स्वागत हो रहा है, साथ ही पसंदीदा स्थान देने की सिफारिश हो रही है। कांग्रेस नेता रामेश्वर डूडी पर सबसे ज्यादा दबाव बनाया जा रहा है। दरअसल, जिला परिषद पर डूडी का ही सर्वाधिक प्रभाव है।