Thursday, December 1निर्मीक - निष्पक्ष - विश्वसनीय
Shadow

80 लाख के हीरों के साथ पकड़े गए ठग:जयपुर के ज्वेलर को लूटकर भागे थे, 20 करोड़ से ज्यादा की ठगी कर चुके

जयपुर. जयपुर कमिश्नरेट की सीएसटी टीम ने डायमंड ठगी के मास्टर माइंड समेत चार बदमाशों को महाराष्ट्र से गिरफ्तार किया है। इन सभी के खिलाफ डायमंड फ्रॉड के 24 से ज्यादा केस चल रहे हैं। आरोपियों के पास पुलिस को 80 लाख रुपए का मसरूका डायमंड भी बरामद किया है। चारों आरोपियों अब तक 20 करोड़ से ज्यादा के डायमंड की ठगी कर चुके हैं। इनका मास्टर माइंड प्रवीण जैन उर्फ प्रवीण भाई उर्फ पप्पू है।
एडिशनल कमिश्नर अजय पाल लांबा ने बताया कि 21 सितंबर को चिराग भाई ने श्याम नगर थाने में डायमंड ठगी की शिकायत दर्ज करवाई थी। चिराग ने रिपोर्ट दी कि 20 सितंबर को फोन आया कि आप माल लेकर राणी सती नगर मानसरोवर मेट्रो स्टेशन के पास पहुंचे। जहां आॅफिस में एक पार्टी मिली। इनसे 6 डायमंड 12 कैरेट के दिए। एक लाख रुपए लेकर लेकर वापस आ गया।
फिर दिन में करीब 3.15 बजे पार्टी का दुबारा फोन आया। डायमंड की डिमांड की। चिराग वापस पार्टी के आॅफिस पहुंच गया। पार्टी ने 17 पैकेट माल खरीदा। चिराग और उसके साथ को बगल वाले चैंबर में बैठा दिया। इसके बाद बदमाश भाग गए। इसके बाद मामला दर्ज करवाया।
जयपुर कमिश्नरेट की सीएसटी टीम ने डायमंड ठगी का मास्टर माईंड सहित तीन को महाराष्ट्र से गिरफ्तार किया हैं। गिरफ्तार आरोपियों से में प्रवीण जैन उर्फ प्रवीण भाई उर्फ पप्पू मास्टर माईड हैं। इस के खिलाफ देश में डायमंड फ्रांड के दो दर्जन से अधिक केस चल रह हैं। आरोपियों के पास से पुलिस को 80 लाख रुपए का डायमंड मसरूका भी बरामद हुआ हैं। चारों आरोपी अभी तक 20 करोड़ से अधिक की डायमंड ठगी कर चुके हैं।
केस दर्ज होने के बाद सीएसटी के कॉन्स्टेबल अजयपाल ने वारदात में शामिल कार को ट्रेस किया। बदमाशों की तलाश में एक टीम एएसआई जुगल किशोर के नेतृत्व में अहमदाबाद और मुंबई के लिए रवाना की गई। जहां पर टीन ने प्रवीण जैन उर्फ प्रवीण भाई उर्फ पप्पू पुत्र बाबूलाल जैन, हिमांशू जैन पुत्र लक्ष्मीचन्द जैन, विट्ठल भाई पुत्र पूजा भाई, इफ्तेखार आजम उर्फ बबलू पुत्र मोहम्मद आसिक अली को मुम्बई (महाराष्ट्र) से गिरफ्तार किया। आरोपियों के पास से पुलिस को 80 लाख के हीरे भी मिले हैं।