Wednesday, November 30निर्मीक - निष्पक्ष - विश्वसनीय
Shadow

‘हमारा स्वास्थ्य, हमारी जिम्मेदारी’ अभियान आज से

  • जिला कलक्टर ने की सभी विभागों की जिम्मेदारी तय, आमजन भी अपनी जिम्मेदारी निभाएं
    श्रीगंगानगर।
    इन दिनों मलेरिया व डेंगू रोगियों की संख्या में बढ़ोतरी के चलते सभी विभागों को आपसी समन्वय के जरिए मौसम व मच्छरजनित बीमारियों को रोकने के साझा प्रयास करने के निर्देश जिला कलक्टर रूकमणि रियार सिहाग ने दिए हैं। राज्य सरकार ने विगत वर्षों के आंकड़ों के आधार पर आशंका व्यक्त की है कि सितंबर आखिर व अक्टूबर माह में डेंगू केसेज में ज्यादा बढ़ोतरी होती है। लिहाजा इस अवधि के दौरान मच्छर रोधी गतिविधियां जरूरी है। यही वजह है कि आज से शुरू होने वाला हमारा स्वास्थ्य, हमारी जिम्मेदारी अभियान 21 अक्टूबर तक चलेगा।
    सीएमएचओ डॉ. मनमोहन गुप्ता ने बताया कि अभियान को लेकर विभाग ने अपने स्तर पर सभी तरह की तैयारियां पूरी कर ली है। हालांकि विभाग पिछले लंबे अर्से से लगातार गतिविधियां कर रहा है लेकिन अभियान के दौरान और अधिक सघनता के साथ आशा व एएनएम सर्वे करेंगी और एलएचवी व पीएचएन सुपरवाइजर होंगे। टीमें घर-घर बुखार के रोगियों का सर्वे व एंटीलार्वल गतिविधियां कर रिपोर्ट तैयार करेंगी और बुखार के रोगियों की रक्त पट्टिकाएं बनाएंगी। स्थानीय निकाय नालियों की नियमित सफाई, नालियों व गंदे पानी के स्रोतों में एमएलओ डालने, फोगिंग करने, सडक पर बने गड्ढ़ों को भरने, घर के बाहर रखी टंकी व अन्य पानी के स्रोतों को साफ करवाने, जिन घरों में मच्छर के लार्वा पाए जाएं वहां चालान कार्रवाई करने, मुख्य जन निकायों की सफाई, यहां उगने वाली अनावश्यक वनस्पतियों की सफाई व कटाई व प्रचार-प्रसार गतिविधियां करेंगे। नागरिक सुरक्षा विभाग छत पर रखी पानी की टंकियों की सफाई करवाने व खुली टंकियों को ढकने के निर्देश देंगे। पंचायती राज विभाग डीडीटी स्प्रे संचालन के लिए पर्याप्त मात्रा में पानी की उपलब्धता व ग्रामीण क्षेत्रों में फोगिंग करवाएंगे। शहरी विकास विभाग, हाउसिंग बोर्ड व आवासन मंडल कॉलोनियों व मल्टी स्टोरी अपार्टमेंट एवं कन्सट्रक्शन साइट पर नियमित एंटीलार्वल व अन्य गतिविधियां करवाएंगे। नर्सिंग काउंसिल की ओर से नर्सिंग स्टूडेंट्स से सर्वे कार्य करवाएंगे। वहीं शिक्षा विभाग स्टूडेंट्स को प्रार्थना सभा में मौसमी बीमारियों व स्वास्थ्य के प्रति जागरूक करेंगे और विद्यालय परिसर में एंटीलार्वल व सोर्स रिडक्शन गतिविधियां करेंगे।