Friday, February 3निर्मीक - निष्पक्ष - विश्वसनीय
Shadow

सौ से ज्यादा ने करवाया गाजर धुलाई को रजिस्ट्रेशन:200 से ज्यादा किसान कर रहे गाजर धुलाई, आज होगी जांच

श्रीगंगानगर. शहर के नजदीक गांव साधुवाली में लगने वाली गाजर मंडी में शुक्रवार को सिंचाई विभाग की टीम जांच करेगी। जिले में गंगनहर पर गाजर धुलाई करने वाले किसानों की संख्या दो सौ ज्यादा है जबकि अब तक सौ से कुछ ज्यादा किसानों ने ही मशीनों के लिए निर्धारित फीस जमा करवाई है। सिंचाई विभाग ने किसानों को आठ दिसम्बर तक गाजर धुलाई मशीनों के लिए फीस जमा करवाने के निर्देश दिए थे। इसके बावजूद बड़ी संख्या में किसानों ने फीस जमा नहीं करवाई। अब सिंचाई विभाग की टीम शुक्रवार से जांच शुरू करेगी। बिना रजिस्ट्रेशन पाई जाने वाली मशीनों को जब्त करने की कार्रवाई की जाएगी।

गाजर मंडी में नहर किनारे गाजर । ( फाइल फोटो। )

गाजर मंडी में नहर किनारे गाजर । ( फाइल फोटो। )

इन इलाकों में हो रही गाजर धुलाई
जिले में साधुवाली के अलावा नाथांवाला और कालूवाला आदि इलाकों में भी नहर किनारे गाजर धुलाई की जा रही है। अकेले साधुवाली में लगने वाली गाजर मंडी में करीब सत्तर किसानों की मशीनें लगती हैं। इस साल भी करीब साठ ने गाजर धुलाई फीस जमा करवा दी थी। विभाग की ओर से इन किसानों को आठ दिसम्बर तक फीस जमा करवा कर रसीद लेने के लिए कहा गया था। अब शुक्रवार को जांच शुरू की जाएगी।
किसानों को कर रहे मोटिवेट
श्रीगंगानगर जिला सब्जी उत्पादक संघ अध्यक्ष अमरसिंह ने बताया कि अकेले साधुवाली में करीब साठ किसानों ने निर्धारित फीस जमा करवा दी है। यहां करीब सत्तर मशीन पिछले साल लगी थीं। इसके अलावा कालूवाला और नाथांवाला में भी नहर किनारे लोग गाजर धुलाई करते हैं। ऐसे में इन किसानों को फीस जमा करवाने के लिए मोटिवेट किया जा रहा है।

श्रीगंगानगर की गाजर मंडी। ( फाइल फोटो। )

श्रीगंगानगर की गाजर मंडी। ( फाइल फोटो। )

आज करेंगे जांच
सिंचाई विभाग के एसई धीरज चावला ने बताया कि जिले में करीब दो सौ गाजर धुलाई मशीनें गंगनहर के किनारे लगने का अनुमान हैं। अब तक सौ से कुछ ज्यादा किसानों ने फीस जमा करवा दी है। शुक्रवार काे विभाग की टीम जायजा लेगी। इस दौरान बिना रजिस्ट्रेशन मिलने वाली मशीनों की जानकारी जुटा ली जाएगी। फिर पुलिस जाब्ते के साथ इन्हें जब्त कर लिया जाएगा।