Thursday, February 2निर्मीक - निष्पक्ष - विश्वसनीय
Shadow

सीमावर्ती गांव में रात गुजारी सतीश पूनिया ने:भारत-पाक सीमा पर कोडेवाला चौकी पर बीएसएफ जवानों के साथ चर्चा की, ग्रामीणों को मोदी सरकार की योजनाएं गिनाई

बीकानेर . चुनावी साल शुरू होने के साथ ही बीकानेर में राजनीतिक गतिविधियां तेज हो गई है। कुछ दिन पहले ही बीकानेर आए भाजपा प्रदेशाध्यक्ष सतीश पूनिया एक बार फिर यहां पहुंचे। भारत-पाकिस्तान सीमा पर स्थित कोडेवाला चौकी पर सीमा के जवानों के साथ बैठे और फिर ग्रामीणों से मिलकर उन्हें केंद्र सरकार की योजनाओं के बारे में बताया।

भाजपा प्रदेशाध्यक्ष पूनिया खाजूवाला में भाजयुमों के बॉर्डर विलेज संपर्क कार्यक्रम के तहत कोडेवाला बीओपी पहुंचे थे। जहां सीमा प्रहरियों के साथ काफी वक्त गुजारा। इस दौरान जवानों ने बताया कि वो किस तरह सीमा पर रहते हैं। देश की रक्षा के लिए ऊंटों पर किस तरह पहरा देते हैं।

पूर्व विधायक और संसदीय सचिव रहे डॉ. विश्वनाथ मेघवाल और उनकी टीम ने पूनिया का गर्मजोशी से स्वागत किया। ग्रामीणों को संबोधित करते हुए पूनिया ने कहा कि पंचायती राज संस्थाओं और गांवों के लिए केंद्र सरकार ने कई योजनाएं लागू की है। घर-घर जल योजना, खुले में शौच से मुक्त करवाने की योजना, किसानों के लिए सस्ती दर पर कर्ज सहित कई योजनाएं हैं, जिनका लाभ ग्रामीण इलाकों के लोगों को मिल रहा है। इनमें से अधिकांश योजनाएं पंचायती राज संस्थाओं के माध्यम से संचालित हो रही है। ऐसे में केंद्र सरकार की योजनाओं का लाभ ज्यादा से ज्यादा लोगों को मिले इसको लेकर प्रयास करने चाहिए। उनके साथ नोखा विधायक बिहारीलाल बिश्नोई भी रहे।

राजनीतिक रही यात्रा

दरअसल, पूनिया की ये यात्रा राजनीतिक ही रही। ग्रामीण क्षेत्रों में खुद पूनिया ने जहां भाजपा कार्यकर्ताओं से मिलकर पार्टी के हालात जानने का प्रयास किया, वहीं टिकट के दावेदारों ने अपना शक्ति प्रदर्शन भी किया। हालांकि यहां पूर्व संसदीय सचिव डॉ. विश्वनाथ मेघवाल ही टिकट दावेदार है। वो दो बार चुनाव जीत चुके हैं जबकि एक बार हार गए। आरक्षित सीट पर एक बार फिर उनकी दावेदारी है। शनिवार रात ही इस क्षेत्र के जालम सिंह भाटी को देहात भाजपा अध्यक्ष बनाया गया।