Saturday, December 3निर्मीक - निष्पक्ष - विश्वसनीय
Shadow

सरकारी स्कूलों में 25,000 शिक्षकों के बिना कैसे होगी पढ़ाई!

  • रीट पात्रता की वजह से 12 लाख उम्मीदवार नहीं कर पाएंगे आवेदन
    जयपुर.
    राजस्थान के सरकारी स्कूलों में खाली चल रहे शिक्षकों के पदों को भरने के लिए सरकार ने विद्या संबल योजना शुरू की है। इसके तहत प्रदेश के लगभग 50 हजार सरकारी स्कूलों में रिक्त चल रहे शिक्षकों के 60 हजार पदों पर गेस्ट फैकल्टी नियुक्ति की जाएगी। लेकिन सरकार का ही एक नियम इस योजना में आडे आ रहा है। ये नियम है, गेस्ट फैकल्टी में बीएड के साथ फएएळ पास होने की अनिवार्यता है। जबकि रीट-2022 का रिजल्ट अभी जारी नहीं हुआ है।
    दरअसल, राजस्थान में अब तक रीट परीक्षा पास कर चुके उम्मीदवारों को 3 साल का पात्रता सर्टिफिकेट दिया जाता था। जिसे इस बार बढ़ाकर आजीवन कर दिया गया है। लेकिन, रीट-2022 का फाइनल रिजल्ट आने में समय लग सकता है। ऐसे में इस बार लेवल-2 परीक्षा में शामिल होने वाले 11 लाख से ज्यादा उम्मीदवार गेस्ट फैकल्टी के लिए आवेदन नहीं कर सकेंगे। वहीं पिछले साल 2021 में लेवल-2 की भर्ती परीक्षा रद्द हो गई थी। जबकि 2017 के अभ्यर्थियों की पात्रता 2021 में ही समाप्त हो चुकी है।
    ऐसे में प्रदेश के सरकारी स्कूलों में लेवल-2 के 25 हजार से ज्यादा रिक्त चल रहे पदों पर शिक्षकों की कमी कक्षा पांचवी से आठवीं तक की परेशानी बढ़ा सकती है। क्योंकि स्कूलों में सेशन शुरू हो चुके हैं। रिजल्ट आने के बाद आवेदन और नियुक्ति में भी कम से कम 1 महीने का समय लग सकता है।
    जयपुर में 3900 पद रिक्त, लेवल-2 के 1568
    राजधानी जयपुर में कुल 3427 राजकीय स्कूल संचालित है। जिनमें शिक्षकों के 3900 पद रिक्त हैं। इसमें स्कूल लेक्चरर ग्रेड वन के 150, सीनियर टीचर के 523, लेवल-22 के 1568, लेवल-1 के 1348 और शारीरिक शिक्षा के 311 पद रिक्त है। जिस पर गेस्ट फैकल्टी के लिए आवेदन मांगे गए है। लेकिन रीट पात्रता की वजह से लेवल-2 के लिए स्टूडेंट्स आवेदन नहीं कर रहे है।
    तीन सौ से चार रुपए प्रतिघंटा सैलरी
    गेस्ट फैकल्टी में ग्रेड थर्ड के टीचर्स को 300 रुपए प्रति घंटा, सीनियर टीचर्स को 350 रुपए प्रति घंटे, लेक्चरर को 400 रुपए प्रति घंटे, शारीरिक टीचर्स और लैब असिस्टेंट को 300-300 रुपए प्रति घंटे सैलरी दी जाएगी। वहीं सीनियर टीचर्स को अधिकतम 25 हजार, लेक्चरर को अधिकतम 30 हजार और अन्य को 21 हजार रुपए अधिकतम मिल पाएंगे। जबकि छुट्टियों के दिन की सैलरी नहीं मिलेगी। ऐसे में अगर टीचर को एक पीरियड मिलता है। तो साढ़े सात हजार रुपए सैलरी दी जाएगी। वहीं ज्यादा पीरियड मिलेंगे। तो उसी हिसाब से सैलरी बढ़ती जाएगी।
    स्थायी टीचर मिलते ही हटेंगे
    राजस्थान के शिक्षा विभाग ने सीनियर टीचर्स, फिजिकल टीचर्स और लेक्चरर की नियुक्ति के लिए प्रोसेस शुरू किया हुआ है। ऐसे में जब भी इन पदों पर नियुक्ति होगी, तब इन गेस्ट फैकल्टी टीचर्स की सेवाएं समाप्त हो जाएगी।