Saturday, December 10निर्मीक - निष्पक्ष - विश्वसनीय
Shadow

समाज की 180 प्रतिभाओं को किया सम्मानित

  • जांगिड़ सुथार समाज शिक्षा समिति का प्रतिभा सम्मान समारोह आयोजित
    हनुमानगढ़ (सीमा सन्देश न्यूज)।
    जांगिड़ सुथार समाज शिक्षा समिति हनुमानगढ़ द्वारा रविवार को जंक्शन जांगिड़ सुथार धर्मशाला वार्षिक प्रतिभा सम्मान समारोह का आयोजन किया गया। कार्यक्रम के मुख्य अतिथि उपखण्ड अधिकारी पवन बुढल, विशिष्ट अतिथि पीडब्ल्यूडी विभाग की एईएन अंजली सुथार, बैक आॅफ बडौदा के प्रबंधक महेश जांगिड़, सिंचाई विभाग से एईएन मुकेश कुमार सुथार, एकता मंत्र के प्रदेशाध्यक्ष महेन्द्र बरड़वा, भोजराज कुलरिया, टाउन अंगीर समाज समिति के अध्यक्ष सत्यप्रकाश जांगिड़, रावतसर सभा के संरक्षक भंवरलाल जाला, जांगिड़ सुथार समाज समिति के अध्यक्ष मांगेराम छाबरा, राजीव, सुरजीत चुईल, गोपीराम नागल, कालूराम, हीरालाल लदोईया, परमानाराम मायल थे। कार्यक्रम की अध्यक्षता जांगिड़ सुथार समाज शिक्षा समिति अध्यक्ष किशनलाल बरड़वा ने की। कार्यक्रम की शुरूवात अतिथियों ने भगवान विश्वकर्मा के चित्र के समक्ष द्वीप प्रज्जवलित कर की। कार्यक्रम को संबोधित करते हुए अतिथियों ने कहा कि उक्त कार्यक्रम समाज की प्रतिभाओं के प्रोत्साहन के लिए सराहनीय कदम है। इसी के साथ-साथ समाज में एकजुटता लाने का सराहनीय प्रयास है। उन्होंने कहा कि जांगिड़ समाज युवाओं ने प्रशासनिक सेवाओं में पूरे देश में एक अलग मिशाल कायम की है। उपखण्ड अधिकारी पवन बुढल ने बालिका शिक्षा पर बल देते हुए कहा कि आज के प्रतिभा सम्मान समारोह में बेटियों की संख्या सर्वाधिक है। उन्होंने कहा कि समाज की लगभग बेटियों ने 90 प्रतिशत से अंक प्रापत किये है जो कि समाज के लिए गौरव की बात है। उन्होने उपस्थित अभिभावकों से अपील करते हुए कहा कि बेटियों ने अपनी मेहनत व लग्न दिखा दी है और भविष्य में भी दिखायेगी परन्तु जब तक परिवार प्रोत्साहित नही करता बेटियां अपना असली मुकाम हासिल नही कर पायेगी। उन्होने कहा कि समाज में बेटी और बहू के फर्क को खत्म करना जरूरी है। वर्तमान परिवेश में हम हमारी बेटी को राजकीय सेवा के लिए प्रोत्साहित करते है परन्तु बहू की जब बात आती है तो हम यही कहते है कि नौकरी की क्या आवश्यकता है यह सोच बदलनी होगी। कार्यक्रम को संबोधित करते हुए पीडब्लयूडी एईएन अंजी सुथार ने कहा कि मुझे बेहद गौरव है कि समाज के बेटियां इतने अच्छे अंक प्रापत कर रही है और अलग अलग विभाग में राजकीय सेवा में भी चयनित हुई है। उन्होने समाज की प्रतिभाओं को संबोधित करते हुए कहा कि मेहनत सफलता की कुंजी है। हमारा समाज के भविष्य का कर्णधार व सूत्रधार समाज के युवा ही है। शिक्षा समिति अध्यक्ष किशनलाल बरड़वा ने समाज के लोगों को जन्मजात इंजीनियर बताते हुए कहा कि जांगिड़ लकड़ी को सूक्ष्म से सूक्ष्म रूप में भी अपनी कलाकृतियों से सबसे आगे है। समाज की प्रतिभाओं के लिए उन्होंने कहा कि समाज की प्रतिभा आगे थी और हमेशा रहेगी। महेन्द्र बरडवा ने समाज में शिक्षा व बालिका शिक्षा पर उद्बोधन देते हुए कहा कि समाज का विकास शिक्षा से ही संभव है। समाज निर्माण के लिए युवा व वरिष्ठ लोगों को साथ चलना होगा। उन्होंने समाज को विश्वास दिलाया कि धन के अभाव में किसी भी प्रतिभा को पीछे नही हटने देंगे। कार्यक्रम में समाज के 180 प्रतिभावान बच्चों को स्मृति चिन्ह व प्रशस्ति पत्र देकर सम्मानित किया गया इसी के साथ साथ शिक्षा समिति की और से प्रतिभावान बच्चों को छात्रवृत्ति भी वितरित की गई। कार्यक्रम के अंत में जांगिड़ समाज समिति के अध्यक्ष मांगेराम छाबरा ने आये हुए अतिथियों का धन्यवाद ज्ञापित किया। कार्यक्रम का मंच संचालन रामनिवास मांडण ने किया।