Monday, January 30निर्मीक - निष्पक्ष - विश्वसनीय
Shadow

शिक्षा मंत्री कल्ला जता चुके ऐसे ही मामले में आपत्ति:डाक बंगले की दीवार तोड़ने के लिए डीसी ने लिखा निगम को पत्र, अधिकार PWD का

बीकानेर. शहर में आए दिन ताेड़ी जा रही दीवाराें काे लेकर शिक्षा मंत्री डाॅ. बीडी कल्ला ने कलेक्टर के समक्ष जमकर नाराजगी व्यक्त की थी। टीटी काॅलेज की दीवार ताेड़ने के मामले में शिक्षा निदेशक काे एफआईआर तक कराने काे कहा था लेकिन अब तक एफआईआर नहीं हुई लेकिन कल्ला की नाराजगी के ठीक चार दिन बाद संभागीय आयुक्त ने कलेक्टर और नगर निगम आयुक्त काे पत्र लिखकर डाक बंगले की दीवार ताेड़ने के आदेश जारी कर दिए।

डॉ. कल्ला 18 नवंबर काे जब कलेक्ट्रेट एक मीटिंग में पहुंचे ताे दीवार ताेड़ने का मामला उठा। उन्हाेंने कलेक्टर से सवाल किया कि आखिर किसकी परमिशन से दीवारें ताेड़ी जा रही हैं। टीटी काॅलेज की दीवार पर ताे उन्हाेंने शिक्षा निदेशक काे तत्काल एफआईआर कराने के लिए कहा। हालांकि अब तक एफआईआर नहीं हुई। हैरानी की बात है कि कल्ला की नाराजगी के ठीक चार दिन बाद यानी 23 नवंबर काे संभागीय आयुक्त नीरज के. पवन ने एक पत्र कलेक्टर और नगर निगम के आयुक्त काे लिखा और निर्देश दिए कि रेलवे स्टेशन के सामने से सड़क काे सीधा निकालने के लिए पहले भी कई बार चर्चा हुई।

ट्रेफिक काे सुगम बनाने के लिए इसे सीधा करना जरूरी है इसलिए इसमें जरूरी कार्रवाई की जाए। डीसी के पत्र के बाद से अब तक इस पर कार्रवाई नहीं हुई क्याेंकि डाॅ. कल्ला की नाराजगी अधिकारी माेल नहीं लेना चाहते। बताते हैं कि डाॅ. कल्ला के सामने व्यापारियाें ने इस बात काे लेकर आपत्ति दर्ज कराई है कि अगर ये सड़क चाैड़ी और सीधी हुई ताे ट्रेफिक लाेड यहां ज्यादा हाेगा। इसी आधार पर कल्ला ने प्रशासन के समक्ष डाक बंगले की दीवार काे भी ताेड़ने के लिए सांकेतिक रूप से मना किया है। हालांकि डाक बंगले पर अधिकार पीडब्ल्यूडी का है।

मेरे ध्यान में संभागीय आयुक्त का पत्र अभी तक नहीं आया। उच्चाधिकारियों जाे आदेश देंगे उस हिसाब से कार्रवाई की जाएगी। – गाेपालराम विरदा, आयुक्त नगर निगम