Thursday, December 8निर्मीक - निष्पक्ष - विश्वसनीय
Shadow

शतरंज के 20 खिलाड़ी स्टेट टीम में पहुंचे:हनुमानगढ़, जयपुर और उदयपुर के नाम रहे खिताब

बीकानेर. राज्य स्तरीय स्कूली शतरंज प्रतियोगिता में जयपुर और उदयपुर के साथ ही हनुमानगढ़ के खिलाड़ियों ने शानदार प्रदर्शन करते हुए अलग अलग वर्ग में विजेता की ट्राफी जीत ली। वहीं बीकानेर की युक्ति हर्ष सहित राज्य के बीस खिलाड़ियों का नेशनल टूर्नामेंट के लिए राज्य टीम में चयन हो गया है। राज्य स्तरीय प्रतियोगिता यहां पुष्करणा भवन में संपन्न हुई।

अंडर 17 बॉयज का खिताब जयपुर प्रथम ने जीता, जबकि उदयपुर दूसरे व बीकानेर तीसरे नंबर पर रहा। वहीं अंडर 17 गर्ल्स में भी जयपुर प्रथम ने ही खिताब जीता। यहां भी उदयपुर दूसरे नंबर और बीकानेर तीसरे नंबर पर रहा। अंडर 19 बॉयज का खिताब उदयपुर के नाम रहा। इस वर्ग में उपविजेता जयपुर प्रथम रहा, जबकि अलवर ने तीसरा स्थान अर्जित किया। अंडर 19 गर्ल्स में हनुमानगढ़ विजेता रहा,जबकि बीकानेर ने उपविजेता का खिताब जीता। बाडमेर की टीम तीसरे नंबर पर रही।

अंडर 17 के मुकाबलों में व्यक्तिगत स्तर पर यश बरडिया ने खिताब जीता, जबकि वृषांक चौहान द्वितीय, अनिरुद्ध खंडेलवाल तृतीय रहे। अरुण कटारिया और होनी अरोडा चौथे और पांचवें नंबर पर रहे। अंडर 17 गर्ल्स का खिताब दक्षिता कुमावत ने जीता जबकि चार्वी पाटीदार दूसरे नंबर पर रही। आशी उपाध्याय ने तीसरा, तनीषा भागचंदानी ने चौथा और तेजस्वी ने पांचवां स्थान प्राप्त किया। अंडर 19 गर्ल्स में हिना काक ने खिताब जीता जबकि सुहानी मुनेट दूसरे स्थान पर रही। याशिका सिंह तीसरे, अपूर्वा चौथे और बीकानेर की युक्ति हर्ष पांचवें स्थान पर रही। अंडर 19 बॉयज में प्रणय चौरड़िया पहले, महर्षि जोशी दूसरे, मोइल मारू तीसरे, मुदित माहेश्वरी चौथे और तुषार डामोर पांचवें स्थान पर रहे। इन सभी खिलाड़ियों को स्टेट टीम में चयन हुआ है और ये सभी नेशनल गेम्स में राजस्थान का प्रतिनिधित्व करेंगे।

सबसे बड़ा टूर्नामेंट बना
दरअसल, स्कूली खेल में पहली बार शतरंज को शामिल किया गया है। इसलिए राज्य स्तरीय स्कूली शतरंज प्रतियोगिता भी पहली बार हुई। जयपुर की दो टीम बनाते हुए राज्य की कुल 31 जिलों की टीमें इस प्रतियोगिता में खेल रही थी। 528 लड़के और लड़कियों ने इस प्रतियोगिता में हिस्सा लिया था। बुधवार देर रात तक चले आयोजन के बाद विजेताओं को पुरस्कार दिए गए।