Saturday, December 10निर्मीक - निष्पक्ष - विश्वसनीय
Shadow

व्यापारी बोले, जंगल बनता जा रहा यार्ड, सार्वजनिक कार्य फांक रहा मिट्टी

  • नवनिर्मित फल-सब्जी यार्ड में फल-सब्जी व्यापार नीलामी का संचालन करवाने की मांग
    हनुमानगढ़ (सीमा सन्देश न्यूज)।
    रावतसर में कस्बे से बाहर नोहर रोड के पास नवनिर्मित फल-सब्जी यार्ड में फल-सब्जी व्यापार नीलामी का संचालन करवाने व आवंटन पत्र जारी करवाने की मांग को लेकर रावतसर क्षेत्र के फल-सब्जी व्यापारियों ने गुरुवार को जिला स्तरीय जनसुनवाई कार्यक्रम में जिला कलक्टर को ज्ञापन सौंपा। इस दौरान व्यापारी सीताराम सैनी ने बताया कि रावतसर में कस्बे से बाहर नोहर रोड के पास नवनिर्मित फल-सब्जी यार्ड में सरकारी सम्पति का दुरुपयोग हो रहा है। विभाग की ओर से इस तरफ ध्यान नहीं दिया जा रहा। इस कारण फल-सब्जी व्यापारियों के साथ किसानों व मजदूरों को अनेक परेशानियों का सामना करना पड़ रहा है। उन्होंने बताया कि करीब दो करोड़ का सरकारी बजट लगाकर फल-सब्जी यार्ड में चार दीवारी, सीसी सड़कें, कार्यालय भवन, चैक पोस्ट भवन, शौचालय, यार्ड के 3 गेट, मैन गेट के सामने नोहर रोड पर साइन बोर्ड, मेन गेट के ऊपर साइन बोर्ड, सभी मूलभूत सुविधाएं उपलब्ध करवाई गई हैं। फल-सब्जी यार्ड में सम्पूर्ण विकास कार्य हो चुका था और 2018 में भूखण्डों का आवंटन भी हो चुका था। यार्ड में कुल 51 भूखण्ड चिन्हित हैं। लेकिन भूखण्ड खरीदार व्यापारियों को आज तक आवंटन पत्र जारी नहीं किए गए हैं। व्यापारी नवीन यार्ड में व्यापार नीलामी का संचालन शीघ्र करना चाहते हैं। भूखण्डों का आवंटन हुए चार साल हो चुके हैं। लेकिन यार्ड में फल-सब्जी व्यापार नीलामी का संचालन आज तक नहीं करवाया गया है। यार्ड के गेटों पर आज भी ताले लटक रहे हैं। तालो पर भी जंग लगने लगी है। व्यापारियों, किसानों व आम नागरिकों को ऐसा लगने लगा है कि सरकारी बजट मिट्टी ही बन कर रह जाएगा। उन्हें व्यापार नीलामी का संचालन होना असंभव दिखने लगा है। क्योंकि समय अवधिपार हो चुका है। यार्ड में बनी सड़कें जर्जर होने लगी हैं। दीवारों से रंग की पपड़ियां गिरने लगी हैं। शौचालय की टूटियां गायब हो चुकी हैं। फिर भी यार्ड पर कोई ध्यान नहीं दिया जा रहा। यार्ड जंगल बनता जा रहा है। सार्वजनिक कार्य मिट्टी फांक रहा है। कस्बे के अन्दर आवासीय कॉलोनी में अस्थाई फल-सब्जी व्यापार नीलामी से व्यापारी, किसान, मजदूर, वाहन चालक, आम नागरिक, स्कूली बच्चे अनेक तकलीफ-परेशानियों से प्रभावित हो रहे हैं। दुघर्टना का खतरा बना ही रहता है। इसलिए फल-सब्जी व्यापार नीलामी का संचालन नव निर्मित यार्ड में अति शीघ्र करवाना आवश्यक हो गया है। उन्होंने मांग की कि नव निर्मित यार्ड में फल-सब्जी व्यापार नीलामी का संचालन अविलम्ब करवाने के आदेश प्रदान किए जाएं।