Thursday, December 1निर्मीक - निष्पक्ष - विश्वसनीय
Shadow

रिलायंस रिटेल का मिठाई बाजार में प्रवेश

नयी दिल्ली (वार्ता). रिलायंस रिटेल स्टोर्स ने देश के 50 से भी अधिक प्रसिद्ध हलवाइयों की मिठाई की बिक्री के साथ मिठाई बाजार में प्रवेश कर लिया है।
रिलायंस रिटेल ने गुरुवार को एक बयान में कहा कि ब्रांड के साथ मिलकर प्रसिद्ध और पारंपरिक हलवाई अब क्षेत्रीय बाजारों से निकल कर अपनी विशिष्ट मिठाइयों को देशभर के ग्राहकों तक पहुंचा सकते हैं। डिब्बाबंद रसगुल्लों और गुलाब जामुन के साथ हलवाई अब पैक्ड मिठाई के साथ भी नये प्रयोग कर रहे हैं।
भारतीय पारंपरिक पैक्ड मिठाई बाजार लगभग 4,500 करोड़ रुपये का है और अगले कुछ वर्षों में इसके 13 हजार करोड़ रुपये हो जाने का अनुमान है जिसमें अंसगठित मिठाई बाजार करीब 50 हजार करोड़ रुपये का माना जाता है।
अजमेर के 70 साल पुराने चव्वनीलाल हलवाई का कारोबार संभाल रहे नयी पीढ़ी के हितेश (34) ने कहा, हमारे पास कई बड़े प्रतिष्ठानों से रिटेल आउटलेट खोलने के प्रस्ताव आए हैं लेकिन इस कारोबारमें बहुत अधिक पूंजी लगती है। रिलायंस के साथ साझेदारी के बाद से हमारी बिक्री दोगुनी हो गई है क्योंकि कंपनी ने हमें आॅटोमेशन और बड़े पैमाने पर उत्पादन की जानकारी दी है। हमारी दुकान अब एक राष्ट्रीय दुकान बन गयी है।
रिलायंस रिटेल पर मशहूर मिठाइयों में कलेवा का तिल बेसन लड्डू, घसीटाराम का मुंबई हलवा, प्रभुजी का दरबेश लड्डू और मेथीदाना लड्डू, दूध मिष्टन भंडार (डीएमबी) का मालपुआ और लाल स्वीट्स का मैसूर पाक उपलब्ध है, जबकि चवन्नीलाला हलवाई का मशहूर कचौरा और चॉकलेट बर्फी जल्द स्टोर पर दिखायी देगी।
रिलायंस रिटेल के ग्रोसरी रिटेल के सीईओ दामोदर मल्ल ने कहा, हम भारत में सबसे बड़ा मल्टी-ब्रांड हलवाई बनना चाहते हैं। हम चाहते हैं कि पारंपरिक मिठाइयां किसी खास इलाके में सिमटकर न रह जाएं, यह देश के कोने-कोने में पहुंचे। जैसे पश्चिम बंगाल और ओडिशा का रसगुल्ला तमिलनाडु के ग्राहक का मुंह मीठा कर सकता है।