Friday, December 9निर्मीक - निष्पक्ष - विश्वसनीय
Shadow

राजस्थान में सरकारी कर्मचारियों का 4% बढ़ा डीए

  • 1 जुलाई 2022 से 38% मिलेगा महंगाई भत्ता, 1096 करोड़ होंगे खर्च
    जयपुर.
    केंद्र सरकार के कर्मचारियों का महंगाई भत्ता 4 फीसदी बढ़ाने की घोषणा के कुछ ही घंटो बाद गहलोत सरकार ने भी ऊअ बढ़ाने की मंजूरी दे दी है। उट अशोक गहलोत ने बुधवार को प्रदेश के सरकारी कर्मचारियों और पेंशनर्स का डीए 4 फीसदी बढ़ाने की मंजूरी दी है। अब राज्य कर्मचारियों और पेंशनर्स को 1 जुलाई 2022 से 38 प्रतिशत महंगाई भत्ता मिलेगा। अभी 34 फीसदी ऊअ मिल रहा था।
    बुधवार शाम मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने ट्वीट कर बताया की केंद्र सरकार के कर्मचारियों के अनुरूप ही राज्य कर्मचारियों के महंगाई भत्ते तथा पेंशनर्स को मिलने वाले महंगाई राहत की दर में चार प्रतिशत बढ़ोतरी को मंजूरी दी है। अब राज्य कर्मचारियों एवं पेंशनर्स को 1 जुलाई 2022 से 38 प्रतिशत महंगाई भत्ता एवं महंगाई राहत दर देय होगी।
    केंद्र सरकार घोषणा पहले करती है। परन्तु इसका अमल काफी समय बाद होता है। जबकि हमारी सरकार घोषणा के साथ बढ़ी हुई राशि का अविलंब वितरण भी करती है। कर्मचारी हित में की गई आज की घोषणा को लागू करने में राज्य कोष से 1096 करोड़ रुपए अतिरिक्त खर्च होगा।
    बढ़े हुए महंगाई भत्ते का फायदा 8 लाख अफसर-कर्मचारियों के साथ ही 4 लाख 40 हजार पेंशनर्स को मिलेगा। पंचायत समिति और जिला परिषद के वर्कचार्ज कर्मचारियों को भी बढ़ा हुआ डीए मिलेगा। कर्मचारियों की 1 जुलाई, 2022 से 31 अगस्त, 2022 तक का 2 महीने का बढ़ा हुए डीए उनके जनरल प्रोविडेंट फंड खाते या सामान्य प्रावधायी निधि खाते में जमा की जाएगी।
    इससे पहले 30 मार्च को केंद्र सरकार द्वारा महंगाई भत्ता 3 फीसदी बढ़ाने की घोषणा के छह घंटे बाद ही गहलोत सरकार ने भी डीए बढ़ाने का फैसला किया था। जिसके तहत राज्य कर्मचारियों और पेंशनर्स को 1 जनवरी 2022 से 34 प्रतिशत महंगाई भत्ता दिया जाना था। जबकि उससे पहले 31 फीसदी डीए मिल रहा था। वहीं आज भी केंद्र के फैसले के कुछ ही घंटो बाद कम गहलोत ने राजस्थान में महंगाई भत्ता बढ़ाकर चुनावी साल से पहले कर्मचारियों को खुश करने की कोशिश की है।