Tuesday, December 6निर्मीक - निष्पक्ष - विश्वसनीय
Shadow

राजस्थान में बेटी पैदा होने से लेकर शादी तक की योजनाएं एक पोर्टल पर जुड़ेगी, आवेदन करने से मिलेगी मुक्ति

जयपुर। राजस्थान में बेटी के जन्म से लेकर शादी तक की सभी सरकारी योजनाओं को एकीकृत प्रणाली से जोड़ा जाएगा। इसके तहत बेटी के जन्म, उसके भोजन, शिक्षा, रोजगार और शादी में कन्यादान जैसी सरकारी योजनाओं को जल्द ही एक पोर्टल से जोड़ा जाएगा। काई भी इस पोर्टल से जानकारी प्राप्त करने के साथ ही योजना से लाभ लेने को लेकर आवेदन कर सकेगा। महिला की प्रसव होने और बच्चे के रखरखाव से जुड़ी जानकारी भी इस पोर्टल पर मिलेगी। वर्तमान में प्रदेश में बच्चियों और महिलाओं से जुड़ी एक दर्जन से ज्यादा सरकारी योजनाएं संचालित हैं। इन योजनाओं का लाभ लेने के लिए अब तक अलग-अलग आवेदन करने होते हैं। लेकिन आगामी कुछ दिनों में केवल एक बार ही आवेदन करना होगा।
ये योजनाएं संचालित है
जानकारी के अनुसार बालिकाओं के वैक्सीनेशन, पोषाहार, स्वास्थ्य परीक्षण, शिक्षा को एक साथ जोड़ने के लिए मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने सामाजिक न्याय एवं अधिकारिता विभाग के सचिव समीत शर्मा को निर्देश दिए हैं। प्रदेश सरकारी स्कूलों में बारहवीं कक्षा तक नि:शुल्क शिक्षा, आपकी बेटी योजना के तहत जरूरतमंद छात्राओं को छात्रवृति, राजस्थान शुभ शक्ति योजना में मजदूर परिवार की अविवाहित बेटी और महिलाओं को 55 हजार की आर्थिक मदद, इसी तरह पाक्सो एक्ट के तहत बालिकाओं की सुरक्षा, पीड़िता बालिका और परिवार को कानूनी एवं आर्थिक मदद मदद पर विशेष ध्यान दिया जाएगा। पीड़ित बालिका को कानूनी और आर्थिक मदद मिलेगी ।
जानकारी के अनुसार सबसे ज्यादा लोकप्रिय योजनाओं मे शामिल मुख्यमंत्री राजश्री योजना शामिल है। इसके तहत बच्चियों को कानूनी, आर्थिक मदद और अपराधियों को सजा दिलवाने के लिए विशेष ध्यान दिया जाएगा। कन्यादान हथलेवा योजनाके तहत बालिका की शादी पर 31 हजार रुपये से 51 हजार तक की मदद उपलब्ध करवाई जाएगी। राजस्थान ह्यई-सखी योजनाह्ण में महिलाओं को डिजिटल साक्षर बनाना महिला बैंक से महिलाओं को रोजगार चलाने के लिए लोन दिया जाएगा। महिलाओं का स्किल डेवलपमेंट कर 10 हजार रुपये महीने कमाने की व्यवस्था सरकार ने की है। इसके साथ ही पाक्सो एक्ट में कानूनी मदद दी जाती है।