Friday, February 3निर्मीक - निष्पक्ष - विश्वसनीय
Shadow

राजस्थान में कल से मावठ-शीतलहर का अलर्ट:माउंट आबू में पारा फिर माइनस 3 डिग्री सेल्सियस पर पहुंचा, पेड़-पौधों पर जमी बर्फ

जयपुर. राजस्थान में चार दिन बारिश होने के साथ ही शीतलहर चलने की संभावना है। जयपुर में आज सुबह से ही बादल छाए रहे और हवा चलती रही। माउंटआबू में आज फिर तापमान माइनस में चला गया। वहां पेड़-पौधों पर ओस की बूंदे जम गईं। कोटा, बूंदी, बारां और झालावाड़ जिलों में सुबह घना कोहरा छाया रहा। शीतलहर और गलन के कारण लोगों के कंपकंपी छूट गई।

मौसम केंद्र जयपुर के मुताबिक उत्तर भारत में हो रही बर्फबारी का असर राज्य में दिखने लगा है। उत्तरी हवाओं का दबाव बढ़ने से जयपुर सहित पूरे प्रदेश में तापमान में उतार-चढ़ाव का दौर जारी है। जयपुर, कोटा, भरतपुर, बीकानेर संभाग के जिलों में कहीं-कहीं बारिश होने की संभावना है। 26 जनवरी तक कड़ाके की ठंड का असर देखने को मिल सकता है।

इधर, शनिवार रात प्रदेश के 20 से अधिक जिलों का रात का तापमान 10 डिग्री सेल्सियस से कम रिकॉर्ड किया गया।

माउंट आबू में एक बार फिर तापमान माइनस में चला गया। गुरुशिखर मार्ग पर पत्तियों पर बर्फ जम गई।

माउंट आबू में एक बार फिर तापमान माइनस में चला गया। गुरुशिखर मार्ग पर पत्तियों पर बर्फ जम गई।

माउंट में पारा माइनस में पहुंचा

माउंट में शनिवार को न्यूनतम तापमान 0 डिग्री पर था, जो आज माइनस 3 डिग्री पर आ गया। शीतलहर के कारण लोगों की कंपकंपी छूट रही है। सुबह देलवाड़ा, मांचगांव, कुम्हारवाड़ा, संतसरोवर, गुरुशिखर, ओरिया समेत विभिन्न क्षेत्रों में पेड़-पौधों, गाड़ियों के कांच, घास पर बर्फ की परत दिखी। सुबह देर तक पहाड़ियों में घना कोहरा छाया रहा।

सीकर में रविवार सुबह कोहरा छाया रहा। इसके साथ बादल भी दिखे।

सीकर में रविवार सुबह कोहरा छाया रहा। इसके साथ बादल भी दिखे।

मावठ की संभावना
जयपुर मौसम केन्द्र के अनुसार, एक नए पश्चिमी विक्षोभ और पूर्वी हवा के आपसी इंटरेक्शन के कारण पूर्वी राजस्थान में 23 से 27 जनवरी के दौरान बादल छाए रहेंगे। जयपुर, भरतपुर, कोटा, श्रीगंगानगर, बीकानेर और हनुमानगढ़ जिलों में 23 से 26 जनवरी के दौरान मावठ की संभावना है।