Wednesday, November 30निर्मीक - निष्पक्ष - विश्वसनीय
Shadow

राजस्थान के सियासी घमासान पर पीसीसी चीफ ने तोड़ी चुप्पी, गोविंदसिंह डोटासरा बोले- हर बात नोट की जा रही है

जयपुर
राजस्थान प्रदेश कांग्रेस कमेटी के अध्यक्ष गोविंद सिंह डोटासरा ने बयानवीर मंत्रियों और विधायकों पर कहा कि पार्टी हर चीज पर नजर रखे हुए। समय आएग तो बयानबाजी भारी पड़ेगी। हर नेता की बात नोट की जा रही है। समय आने पर फैसला होगा। मंत्री और विधायकों को बयानबाजी से बचना चाहिए। अनुशासन में रहकर अपनी बात रखनी चाहिए। हर चीज समय पर तय होगी। बयानबाजी का खामियाजा नेताओं को उठाना पड़ सकता है। डोटासरा ने कहा कि पार्टी के कार्यकर्ताओं के दम पर हम चुनाव जीते हैं। इसलिए किसी मंत्री या विधायक को सत्ता का घमंड नहीं करना चाहिए। बता दें, राजस्थान में मंत्री प्रताप सिंह खाचरियावास और पायलट कैंप के माने जाने वाले मंत्री राजेंद्र सिंह गुढ़ा की बयानबाजी से पार्टी को कई बार असहज स्थिति का सामना करना पड़ता है। दोनों मंत्री गहलोत सरकार की परेशानी बढ़ाने वाले बयान देते रहे हैं। बता दें, कांग्रेस विधायक दल की बैठक के बहिष्कार के बाद पीसीसी चीफ गोविंद सिंह डोटासरा पहली बार खुलकर बोले हैं।  

मीडिया से सामने बयानबाजी न करें 

राजस्थान प्रदेश कांग्रेस मुख्यालय में प्रेस वार्ता में डोटासरा ने कहा कि मंत्री या विधायक को कोई बात कहनी है तो वह मुख्यमंत्री से अपनी बात रखें या फिर विधायक दल की बैठक में अपनी बात रखें। किसी मंत्री, विधायक के मीडिया में जाकर दिए गए बयान से पार्टी को नुकसान होता है, तो यह सही नहीं है। उन सभी नेताओं को रात को जाकर सोचना चाहिए कि जो उन्होंने कहा है उससे कांग्रेस पार्टी को नुकसान हुआ है या फायदा, यह नेताओं का नैतिक दायित्व है।

पार्टी की वजह से ही सम्मान मिला है 

गोविंद सिंह डोटासरा ने कहा कि राजस्थान में  कांग्रेस कार्यकर्ताओं की मेहनत के बल पर कांग्रेस की सरकार बनी है। कांग्रेस सरकार राजस्थान की आठ करोड़ जनता की भावना के मुताबिक अच्छे से काम कर रही है। जो कांग्रेस के सिंबल पर चुनाव जीत कर आया है, चाहे वह मंत्री हो विधायक हो या कांग्रेस का कोई पदाधिकारी हो, उन सबको कांग्रेस पार्टी की गरिमा का ध्यान रखना चाहिए कांग्रेस पार्टी ने ही उन्हें मान-सम्मान और पद दिया है। इसलिए पार्टी को नुकसान पहुंचाने वाले बयान न दें।