Saturday, December 3निर्मीक - निष्पक्ष - विश्वसनीय
Shadow

राजस्थान के मुद्दों पर पायलट की राहुल-प्रियंका से चर्चा:माकन के इस्तीफे और नेताओं के एक्शन पर चर्चा, राजनैतिक नियुक्तियां पर सुझाव दिया

जयपुर. राजस्थान में चल रही सियासी खींचतान के बीच आज सचिन पायलट ने मध्यप्रदेश के बुरहानुपर में राहुल गांधी और प्रियंका गांधी से मुलाकात की है। पायलट ने राहुल गांधी और प्रियंका गांधी से राजस्थान के घटनाक्रम और सियासी खींचतान पर चर्चा की है। राजस्थान में यात्रा के साथ कांग्रेस की अंदरूनी सियासत के हिसाब से इस मुलाकात को काफी अहम माना जा रहा है। सचिन पायलट कल ही बुरहानुपर पहुंच गए थे। आज पायलट राहुल गांधी की भारत यात्रा में उनके साथ चल रहे हैं।

राहुल गांधी की भारत जोड़ो यात्रा में शामिल होने से पहले पायलट की दोनों नेताओं के साथ हुई चर्चा के सियासी मायने हैं। माना जा रहा है कि 25 सितंबर को हुई घटना से लेकर अब तक हुए सियासी घटनाक्रम पर भी पायलट ने राहुल,प्रियंका को फीडबैक दिया है। पायलट खेमा ​विधायक दल की बैठक के बहिष्कार के लिए जिम्मेदार नेताओं के खिलाफ राजस्थान में यात्रा की एंट्री से पहले एक्शन चाहता है। उधर सीएम अशोक गहलोत खेमे का तर्क है कि जब मुख्यमंत्री माफी मांग चुके तो उसमें सब आ जाता है। अब मुख्यमंत्री की माफी को ही सबकी माफी माना जाता है या तीन नेताओं के खिलाफ एक्शन होता है इस पर फैसला पेंडिंग है।

विधानसभा चुनाव को देखते हुए जल्द पैंडिंग फैसलों को करने का सुझाव
सचिन पायलट ने राहुल गांधी और प्रियंका गांधी से मुलाकात में राजस्थान से जुड़े सियासी फैसलों को जल्दी धरातल पर उतारने की पैरवी की है। पायलट ने विधानसभा चुनावों में साल भर से भी कम का समय होने का तर्क देकर सत्ता और संगठन से जुड़े पैंडिंग फैसलों पर तेजी से काम करने का सुझाव दिया है। पायलट ने अपनी मांगों के संबंध में भी जल्द एक्शन लेने की मांग दोहराई है। पायलट सार्वजनिक रूप से कई बार कह चुके हैं कि सरकार रिपीट करने के लिए अलग तरीके से काम करना होगा और इसके लिए हमने कुछ उपाय सुझाए हैं। राजस्थान कांग्रेस तमें अब तक जिला और ब्लॉक लेवल पर संगठन खाली पड़ा है, लंबित नियुक्तियां भी जल्द करने का सुझाव दिया गया है।