Tuesday, December 6निर्मीक - निष्पक्ष - विश्वसनीय
Shadow

राजस्थान का सिंघम ठगों से हुआ परेशान, सोशल मीडिया से की अपील, मेरे नाम के झांसे में न आए

जयपुर। राजस्थान पुलिस के सिंघम और भ्रष्टाचार निरोधक ब्यूरो (एसीबी) के एडीजी दिनेश एमएन इस समय ठगों से परेशान है। एमएन के नाम पर ठगी का प्रयास करने का मामला सामने आया है। जालसाजों ने वाट्सऐप डीपी पर पर आइपीएस एमएन का फोटो लगाकर परिचित अधिकारियों को संदेश भेजा। मीटिंग में व्यस्त होने का हवाला दे अर्जेंट रुपयों की आवश्यकता बताई।
कुछ अधीनस्थ अधिकारियों ने जालसाज के झांसे में आने की बजाय आइपीएस एमएन से संपर्क किया। तब जालसाजों की करतूत का खुलासा हुआ। इसके बाद आइपीएस एमएन ने सभी परिचितों को जालसाजों से सावधान रहने के लिए मैसेज भेजा। मीडिया के जरिए भी सभी परिचितों को सतर्क रहने का मैसेज किया।
पुलिस मोबाइल नंबर व लोकेशन के जरिए जालसाज का पता लगाने में जुटी है। हालांकि उक्त वाट्सऐप नंबर चालू है और बताया जाता है कि आइपीएस एमएन के बाद इसी वाट्सऐप नंबर पर प्रदेश के एक बड़े नेता की फोटो लगाकर उनके परिचितों से रकम मांगने के लिए संदेश भेजे जा रहे हैं।
नहीं पकड़े जा सके जालसाज
गौरतलब है कि जालसाज कई बड़े आइएएस, आइपीए, मंत्री, नेता और रसूखदार लोगों की वाट्सऐप डीपी पर फोटो लगाकर परिचितों से मदद के नाम पर रुपए मांगने का संदेश भेजते हैं। कई परिचित जालसाजों के झांसे में आकर उनके बताए खाते में रुपए ट्रांसफर कर ठगी का शिकार हो जाते हैं। फर्जी दस्तावेजों से मोबाइल सिम लेने के कारण इस तरह की ठगी करने वाले जालसाज पुलिस पकड़ में नहीं आ सके हैं।