Friday, February 3निर्मीक - निष्पक्ष - विश्वसनीय
Shadow

मुस्लिम युवाओं को योग कक्षाओं के बहाने आतंकवादी गतिविधियों में फंसाता था पीएफआइ

नई दिल्ली। पॉपुलर फ्रंट आॅफ इंडिया पर एनआइए ने अब शिकंजा कसना शुरू कर दिया है। राष्ट्रीय जांच एजेंसी ने हैदराबाद की एक विशेष अदालत में पीएफआई के 11 आरोपियों के खिलाफ आरोप पत्र दायर (चार्जशीट) कर दिया है। इन लोगों पर आतंकवादी प्रशिक्षण शिविरों के आयोजन और आतंकवादी गतिविधियों के लिए व्यक्तियों की भर्ती से संबंधित मामले दर्ज हैं।
बीते दिन ही एनआई ने केरल में पीएफआइ के 58 ठिकानों पर छापेमारी की थी और कई अहम दस्तावेजों को हासिल किया था। पीएफआइ के एक अधिकारी की माने तो पीएफआइ के कुछ नेता नाम बदलकर पीएफआई को नए सिरे से खड़ा करने की कोशिश कर रहे थे, जिसकी जानकारी मिलने के बाद ये कार्रवाई की गई।
एनआईए ने अपनी चार्जशीट में कहा है कि पीएफआई में भर्ती होने के बाद मुस्लिम युवाओं को योग कक्षाओं और शारीरिक शिक्षा (पीई) शुरूआती पाठ्यक्रम (बीसी) की आड़ में पीएफआई द्वारा आयोजित प्रशिक्षण शिविरों में भेजा जाता था। इन शिविरों में उन्हें चाकू, दरांती और लोहे की छड़ें चलाने के लिए प्रशिक्षित किया गया था। इन युवाओं को सिखाया जाता था कि कैसे किसी के कमजोर शरीर के अंगों, जैसे कि गले, पेट और सिर पर हमला करना है।
बता दें कि मामले की शुरूआत इस साल 4 जुलाई को तेलंगाना के निजामाबाद जिले में हुई थी और बाद में 26 अगस्त को एनआईए द्वारा फिर से एक मामला दर्ज किया गया था। अब इन्हीं मामलों में शादुल्लाह, फिरोज खान, मोहम्मद उस्मान, सैयद याहिया समीर, शेख इमरान, मोहम्मद अब्दुल मुबीन और मोहम्मद इरफान के खिलाफ भारतीय दंड संहिता की धारा 120बी, 153(ए) और धारा 17, 18, 18ए के तहत चार्जशीट दर्ज की गई है।