Thursday, December 1निर्मीक - निष्पक्ष - विश्वसनीय
Shadow

मुख्य सचिव उषा शर्मा व राज्य सरकार के उच्च स्तरीय अधिकारी भी वीसी से जुड़े

जिले भर की ग्राम पंचायतों में हुई जनसुनवाई

  • नोहर की भोगराना, टिब्बी की सूरेवाला व पीलीबंगा तहसील की डबलीवास मौलवी से जुड़े उच्चाधिकारी
    हनुमानगढ़ (सीमा सन्देश न्यूज)। राज्य सरकार के निर्देश पर माह के प्रथम गुरुवार को जनसुनवाई कार्यक्रम आयोजित किया गया। जिले के सभी 269 ग्राम पंचायत मुख्यालयों पर ग्राम पंचायत स्तरीय जनसुनवाई आयोजित की गई। ग्राम पंचायत स्तरीय जनसुनवाई ग्राम पंचायत मुख्यालय पर स्थित भारत निर्माण राजीव गांधी सेवा केन्द्रों पर सुबह 11 बजे से दोपहर 2 बजे तक आयोजित हुई। ग्राम पंचायत स्तरीय जनसुनवाई के दौरान मुख्य सचिव उषा शर्मा व राज्य सरकार के उच्च स्तरीय अधिकारियों की ओर से वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के माध्यम से जनसुनवाई में हिस्सा लिया गया। इसके लिए जिले की तीन ग्राम पंचायतों का चयन किया गया था। इनमें नोहर की भोगराना, टिब्बी की सूरेवाला व पीलीबंगा तहसील की डबलीवास मौलवी शामिल रही। ग्राम पंचायत स्तरीय जनसुनवाई में ग्राम पंचायत स्तर के अधिकारी/कर्मचारियों यथा ग्राम विकास अधिकारी, पटवारी, गिरदावर के अलावा पीएचईडी, विद्युत विभाग, सार्वजनिक निर्माण विभाग, जल संसाधन विभाग, चिकित्सा विभाग के ग्राम पंचायत स्तरीय कार्मिकों ने हिस्सा लेकर आमजन की समस्याओं का निस्तारण किया। जनसुनवाई कार्यक्रम में पेयजल, विद्युत, स्वास्थ्य, सफाई व्यवस्था, खाद्य सुरक्षा, सामाजिक सुरक्षा योजनाओं आदि से जुड़ी हुई समस्याओं को प्राथमिकता के आधार पर निस्तारित किया गया। इसी क्रम में जिला मुख्यालय की निकटवर्ती ग्राम पंचायत मक्कासर में सरपंच बलदेव सिंह की अध्यक्षता में जनसुनवाई कार्यक्रम का आयोजन किया गया। जनसुनवाई में विभिन्न विभागों के अधिकारी मौजूद रहे और ग्रामीणों की समस्याएं सुनकर उनका निराकरण किया। इस दौरान ग्राम पंचायत के मेटों ने जनसुनवाई कार्यक्रम प्रभारी को ज्ञापन सौंप मनरेगा श्रमिकों के साथ ही मेट को भुगतान करने की व्यवस्था करने की मांग की। ज्ञापन में भीमसेन, हुकमचन्द, सोहनलाल, जीतसिंह सहित अन्य मेटों ने बताया कि करीब डेढ़ साल से मनरेगा मेटों को भुगतान नहीं किया जा रहा। इसलिए जल्द मेटों का भुगतान करवाने की व्यवस्था की जाए।