Thursday, December 1निर्मीक - निष्पक्ष - विश्वसनीय
Shadow

मिनहाज के पिता बोले- सदमे में हूं, बेटा बेकसूर; मसीरुद्दीन की मां ने कहा- परिवार का एक ही सहारा था, उसे भी फंसा दिया

लखनऊ

अल कायदा की विंग अंसार अल कायदा हिंद (AGH) के आतंकी कहे जा रहे मिनहाज अहमद और मसीरुद्दीन उर्फ मुशीर पर उत्तर प्रदेश को दहलाने की साजिश रचने का आरोप है। दोनों को 11 जुलाई को लखनऊ के दुबग्गा क्षेत्र से गिरफ्तार किया गया था। दोनों के परिवार वालों ने उसके बाद से खुद को अपने-अपने घरों में कैद कर लिया है। दैनिक भास्कर ने मिनहाज और मसीरुद्दीन के परिवार वालों से बात करने की कोशिश की तो उनका दर्द छलक पड़ा।

मिनहाज अहमद के पिता सिराज कहते हैं कि उन्हें नहीं लगता है कि उनका बेटा आतंकी घटना या ऐसी किसी भी तरह की घटना में शामिल है। वहीं, दूसरे आतंकी मसीरुद्दीन उर्फ मुशीर की मां शाहजहां कहती हैं कि परिवार का एक ही सहारा था। उसे भी फंसा दिया। वह पूरी तरह बेकसूर है, रिक्शा चलाता था। 

पिता ने कहा- सदमे में हूं, मेरा बेटा ऐसी घटना में शामिल नहीं
मिनहाज के पिता सिराज कहते हैं, ‘सदमे में हूं, मुझे तो नहीं लगता है कि वह किसी भी तरीके से ऐसी घटना में शामिल है। यहां सबसे पुराना मकान हमारा ही है। 28 साल से यहां रह रहा हूं, आज तक किसी तरह का एक भी दाग न लगा। मैं बैटरी का काम करता था। सुबह 10:00 बजे जाता था, रात में 11:00 बजे वापस आता था। जब भी घर में फोन करता तो पता चलता था कि बेटा मिनहाज सो रहा है।’

घर से कम निकलता था मिनहाज
उधर, मिनहाज के घर के आस-पास रहने वाले भी उसके बारे में कुछ खास नहीं जानते हैं। लोगों का कहना है कि मिनहाज घर से कम ही निकलता था। ज्यादा किसी से बात भी नहीं करता था।

लोगों के सवालों से बचने के लिए गेट पर लगाया ताला
मिनहाज के घर पर सोमवार सुबह से ही ताला लगा हुआ था। ऐसे में सबको लगा कि घर पर कोई नहीं है। हालांकि रिहाई मंच के लोगों के पहुंचने पर मिनहाज के पिता सिराज बाहर निकले और उन्हें अंदर ले गए। इसके बाद पता चला कि सिराज पत्नी के साथ घर पर ही हैं। लोगों के सवाल-जवाब से बचने के लिए मेनगेट पर बाहर से ताला डाल रखा था।

बेटी की शादी में देने के लिए कुकर रखे थे, पुलिस वाले उसे ही बम बताकर उठा ले गए
मड़ियांव के नोबस्ता क्षेत्र निवासी आतंकी मसीरुद्दीन उर्फ मुशीर की मां शाहजहां ने बताया कि बेटियों की शादी के लिए धीरे-धीरे सामान खरीदकर जमा कर रहे थे। दो कुकर भी लाकर रखे थे। वहीं से दो कुकर निकाल कर ले गए। बेटे को फर्जी ही पकड़ा गया है।

यूपी में हाई अलर्ट
लखनऊ कमिश्नरेट इलाके के साथ-साथ हरदोई, सीतापुर, बाराबंकी, उन्नाव और रायबरेली के अलावा पश्चिमी उत्तर प्रदेश के कई जिलों में भी अलर्ट जारी किया गया है। सूत्रों के अनुसार, यूपी एटीएस ने जिस घर पर छापा मारा था, उसमें 6 लोग रह रहे थे, जिसके बाद 5 लोगों के वहां से भागने की जानकारी है, इसी वजह से एटीएस ने आसपास के जिलों में अलर्ट जारी किया है। अब तक दस से ज्यादा संदिग्धों को यूपी एटीएस ने हिरासत में लिया है। उनसे पूछताछ की जा रही है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *