Friday, February 3निर्मीक - निष्पक्ष - विश्वसनीय
Shadow

महिला उत्पीड़न में फंसा डॉक्टर, अब SMS का डिप्टी सुप्रीडेंट:डॉक्टर राणावत को वापस पद पर लगाया, छेड़छाड़ और बदसलूकी का आरोप था

जयपुर. महिला उत्पीड़न मामले में पिछले साल जयपुरिया हॉस्पिटल के पूर्व सुप्रीडेंट (अधीक्षक) से हटाए डॉ. एस.एस. राणावत को फिर से एसएमएस अस्पताल में लगाया गया है। सरकार ने एक आदेश जारी करते हुए डॉ. राणावत को वापस एसएमएस में डिप्टी सुप्रीडेंट के पद पर लगाया है। डॉ. राणावत को पिछले साल सरकार ने हॉस्पिटल की ही एक महिला स्टाफ के साथ छेड़छाड़ और बदसलूकी करने के मामले में पद से हटाया था उनके खिलाफ जांच शुरू करवाई थी। जांच की रिपोर्ट आने के बाद से अब तक सरकार ने उसे सार्वजनिक नहीं किया। डॉ. राणावत पर सवाई मानसिंह हॉस्पिटल में दवाईयों की खरीद में 5 करोड़ रुपए का घोटाला करने के आरोप भी लगे थे।

दरअसल, पिछले साल एक अक्टूबर को जयपुरिया हॉस्पिटल की एक कनिष्ठ सहायक ने छेड़छाड़ और उत्पीड़न के मामले की शिकायत चिकित्सा एवं स्वास्थ्य विभाग को की थी। इस मामले में उस समय बजाज नगर थाने में भी एफआईआर दर्ज करवाई थी। पूरे मामले का खुलासा होने के बाद राणावत को तीन अलग-अलग पदों से हटाया गया था।

RMC रजिस्ट्रार पद से भी हटाया था
डॉक्टर राणावत को पिछले साल महिला उत्पीड़न मामले के बाद सरकार ने राजस्थान मेडिकल कौंसिल (RMC) के रजिस्ट्रार पद से भी हटा दिया है। इसके अलावा उन्हें सवाई मानसिंह हॉस्पिटल (SMS) के उपाधीक्षक पद से भी हटाया गया था। आज वापस उन्हें उसी पद पर दोबारा लगाया गया है। सूत्रों की माने तो राणावत पर करीब चार साल पहले सवाई मानसिंह हॉस्पिटल की लाइफ लाइन में दवा खरीद में घोटाला करने के आरोप लगे थे, इसकी जांच अब तक लंबित पड़ी है।