Thursday, December 8निर्मीक - निष्पक्ष - विश्वसनीय
Shadow

मल्लिकार्जुन खड़गे के अध्यक्ष बनते ही CWC के सभी सदस्यों ने दिया इस्तीफा

नई दिल्ली
मल्लिकार्जुन खड़गे के कांग्रेस के नए अध्यक्ष के रूप में कार्यभार संभालने के तुरंत बाद कांग्रेस कार्य समिति (सीडब्ल्यूसी) के सभी सदस्यों, महासचिवों और प्रभारियों ने नयी टीम बनाने में उनकी मदद के लिए अपने पदों से इस्तीफा दे दिया।
कांग्रेस में नए अध्यक्ष के चयन के बाद पार्टी के सभी पदाधिकारियों के इस्तीफा देने की परंपरा रही है। अखिल भारतीय कांग्रेस कमेटी (एआईसीसी) के महासचिव के सी वेणुगोपाल ने कहा, ‘सीडब्ल्यूसी के सभी सदस्यों, एआईसीसी के महासचिवों और प्रभारियों ने कांग्रेस अध्यक्ष को अपना इस्तीफा सौंप दिया है।’
कांग्रेस पार्टी के संविधान के अनुसार, खड़गे के निर्वाचन की पुष्टि पार्टी के पूर्ण सत्र में की जाएगी, जो इस साल मार्च-अप्रैल में होने की संभावना है। सीडब्ल्यूसी, जो कांग्रेस की शीर्ष निर्णय लेने वाली संस्था है, खरगे द्वारा पूर्ण सत्र के तुरंत बाद पुनर्गठित की जाएगी। पार्टी संविधान के मुताबिक, सीडब्ल्यूसी के 11 सदस्य मनोनीत किए जाएंगे और 12 सदस्य निर्वाचित होंगे। इसके अलावा, संसद में पार्टी के नेता और कांग्रेस अध्यक्ष भी कार्य समिति के सदस्य होंगे।
हालांकि, जब तक खरगे के निर्वाचन की पुष्टि नहीं हो जाती है, तब तक नए पार्टी प्रमुख द्वारा एक नई संचालन समिति का गठन किया जाएगा, जो पूर्ण सत्र तक सीडब्ल्यूसी के रूप में कार्य करेगी। कांग्रेस के अध्यक्ष पद की दौड़ में मल्लिकार्जुन खड़गे के सामने हारने वाले कांग्रेस के वरिष्ठ नेता शशि थरूर ने पार्टी को आगे ले जाने में अखिल भारतीय कांग्रेस कमेटी (एआईसीसी) के नए प्रमुख को पूरा सहयोग और समर्थन देने का संकल्प लिया है।

शशि थरूर ने किया खड़गे का सहयोग करने का संकल्प
खड़गे को बुधवार को औपचारिक रूप से निर्वाचन पत्र सौंपा गया और इसी के साथ उन्होंने यहां एआईसीसी मुख्यालय में पदभार ग्रहण कर लिया। संबंधित कार्यक्रम में शामिल हुए थरूर ने ट्वीट किया, ‘खड़गे जी के अपने नए कार्यालय में बैठने के बाद संक्षिप्त बातचीत के लिए एकत्र हुए। कांग्रेस को आगे ले जाने में उन्हें अपना पूरा समर्थन और सहयोग देने का संकल्प लिया।’’