Saturday, December 3निर्मीक - निष्पक्ष - विश्वसनीय
Shadow

मंदिरों में लगाया अन्नकूट का भोग:सुबह से तैयारियों में जुटे सेवादार, प्रसाद ग्रहण करने को लगी लाइनें

श्रीगंगानगर
शहर के मंदिरों में बुधवार को भगवान को अन्नकूट का भोग लगाया गया। सामान्यत: यह भोग दिवाली के अगले दिन ही लगता है लेकिन इस बार सूर्यग्रहण के चलते इसे एक दिन के लिए टाल दिया गया। दिवाली के अगले दिन में मंगलवार को सुबह से सूतक और उसके बाद ग्रहण होने से बुधवार को इसके लिए तैयारियां शुरू कर दी गई।
व्यवस्था में जुट गए सेवादार
सुबह से ही मंदिरों में सेवादार व्यवस्था बनाने में जुट गए। श्रद्धालुओं ने अन्नकूट के लिए आटा, चावल, सब्जियां, तेल, मसाले और अन्य सामान दिया। सेवादारों और आमजन के सहयोग से मंदिर में ही भट्ठियां लगाकर प्रसाद तैयार किया गया। दोपहर में प्रसाद तैयार हो जाने पर इसे भगवान को भोग लगाया गया। भोग लगाने के बाद इसे श्रद्धालुओं में बांटा गया।
शहर के श्री सनातनधर्म महावीर दल मंदिर, अग्रसेन नगर के रामेश्वरम शिव मंदिर, हाउसिंग बोर्ड के श्री वैष्णों दरबार मंदिर, मदन विहार के बाबा रामदेव मंदिर, एल ब्लॉक के हनुमान मंदिर सहित प्रमुख मंदिरों में अन्नकूट प्रसाद वितरित किया गया।
सुबह हुई गोवर्धन पूजा
इससे पहले सुबह घरों के बाहर गोवर्धन पर्वत का स्वरूप तैयार किया गया। इस पर प्रसाद चढ़ाकर आरती की गई। शहर के मंदिरों में सुबह से ही धार्मिक आयोजन शुरू हो गए। सुबह से महिलाएं मंदिरों में जुटने लगीं। दोपहर बाद तक मंदिरों में अन्नकूट के आयोजन जारी थे।
स्नेह मिलन के हुए आयोजन
इस दौरान दिवाली स्नेह मिलन के आयोजन भी हुए। शहर के श्री सनातनधर्म महावीर दल मंदिर परिसर में महावीर दल मंदिर, अग्रवाल सेवा समिति और संयुक्त व्यापार मंडल की ओर से दिवाली स्नेह मिलन हुआ। व्यापारियों ने एक दूसरे को दिवाली की शुभकामनाएं दीं।