Saturday, December 3निर्मीक - निष्पक्ष - विश्वसनीय
Shadow

भाटिया आश्रम में तैयारी करने वाले 111 बने आरएएस

सूरतगढ़ (सीमा सन्देश)। प्रतियोगी परीक्षाओं की तैयारी के लिए विख्यात भाटिया आश्रम ने फिर अफसरों की फौज देकर यह जता दिया है कि मन में दृढ़ विश्वास और इच्छाशक्ति हो तो महानगर की बजाय कस्बे में भी पढ़ कर सफलता हासिल की जा सकती है। आरएएस परीक्षा-2018 के मंगलवार रात्रि घोषित परिणाम में भाटिया आश्रम में तैयारी करने वाले 111 विद्यार्थियों का चयन हुआ है, इनमें 60 विद्यार्थी सूरतगढ़ तहसील क्षेत्र के ही हैं। परिणाम में जोरदार सफलता की सूचना मिलते ही भाटिया आश्रम में जश्न का माहौल बन गया।
आश्रम के संस्थापक प्रवीण भाटिया ने बताया कि पूरे राज्य से विद्यार्थी तैयारी के लिए आने के कारण बीकानेर, जयपुर व जोधपुर में भी आश्रम की शाखाएं स्थापित की गई हैं। आरएएस परीक्षा में सूरतगढ़ तहसील से एक साथ 60 प्रतिभागियों ने सफलता का परचम फहराया है। इसके अलावा जोधपुर सेंटर पर 24, जयपुर में 22 व बीकानेर में 7 प्रतिभागियों के अभी तक सफल होने की सूचना है। उन्होंने कहा कि वे एक मिशन के रूप में युवाओं को सरकारी सेवाओं में भर्ती करवाने के लिए टीम के साथ जुटे हुए हैं। उन्होंने कहा कि इससे पूर्व भी भाटिया आश्रम में तैयारी कर सैकड़ों की तादाद में प्रतिभागी सरकारी सेवा में चयनित होने के साथ बड़ी संख्या में आईएएस, आरएएस, एसआई परीक्षा में भी प्रतिभागी सफल हो चुके हैं। आश्रम से जुड़े 250 युवाओं का इंटरव्यू के लिए चयन हुआ था। उल्लेखनीय है कि भाटिया आश्रम में प्रति माह मात्र 400 रुपए के सहयोग राशि पर प्रतियोगी परीक्षाओं की तैयारी करवाई जा रही है। इसमें सर्विस टैक्स भी शामिल है।
सूरतगढ़: प्रिया ओझा, संजना जोशी, रवि, नेहा बिश्नोई चयनित
आरएएस परीक्षा में तहसील में टॉपर रही संजना जोशी ने 40वीं रैंक हासिल की है। संजना के पिता प्रवीण जोशी सूरतगढ़ में ही आॅफसेट प्रिंटिंग का व्यवसाय करते हैं। संजना ने बताया कि वह प्रतिदिन 10 घंटे पढ़ती थी। इसी तरह प्रिया ओझा की 134वीं रैंक रही है। प्रिया ने बताया कि उसके पिता का सपना आज पूरा हुआ है। हालांकि पिता शिव ओझा का 2018 में निधन हो चुका है। परंतु इसके बाद माता चंचल व बहन पल्लवी ने उसका सहयोग किया। इसी तरह श्रीविजयनगर क्षेत्र के 3डीजीएम के रहने वाले रवि कुमार पुत्र कृष्ण लाल ने 27वीं रैंक हासिल की है। सूरतगढ़ शहर से चार जनों ने आरएएस परीक्षा में सफलता हासिल की है। इसमें संजना जोशी, प्रिया जोशी, प्रगति यादव व दिनेश राजपुरोहित शामिल हैं। प्रगति यादव वर्तमान में राजकीय बालिका विद्यालय में प्रयोगशाला सहायक है और पिता राजपाल यादव भी अध्यापक है। वहीं सूरतगढ़ की एक अन्य छात्रा नेहा बिश्नोई भी आरएएस बनी है। नेहा के पिता प्रेम बिश्नोई और माता शिक्षक हैं। नेहा विद्युत निगम में कार्यरत हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *