Friday, December 9निर्मीक - निष्पक्ष - विश्वसनीय
Shadow

बॉर्डर पर BSF ज्यादा अलर्ट:दीपावली से पहले घने अंधेरे में होती है सीमा पर घुसपैठ, नाइट विजन उपकरण से रखी जा रही है नजर

बीकानेर
भारत-पाकिस्तान बॉर्डर पर दीपावली से पहले होने वाली घुसपैठ पर इस बार बॉर्डर सिक्योरिटी फोर्स (BSF) की कड़ी नजर है। दरअसल, दीपावली से पहले कृष्ण पक्ष के चलते घना अंधेरा रहता है, जिसका लाभ उठाते हुए पाकिस्तानी घुसपैठिये न सिर्फ भारत की सीमा में प्रवेश कर जाते हैं, बल्कि कई अन्य तरीकों से नशे का सामान भी इस तरफ डाल देते हैं। इस बार BSF ने तस्करों पर शिकंजा कसने के लिए गश्त को बढ़ाने के साथ ही नाइट विजन उपकरण तैनात कर दिए हैं।

BSF डीआईजी पुष्पेंद्र सिंह राठौड़ स्वयं बॉर्डर पर पहुंच गए हैं, जहां सिक्योरिटी को चैक किया जा रहा है। बीकानेर सेक्टर के डीआईजी राठौड़ ने बताया कि दीपावली के बाद शुक्ल पक्ष शुरू होने से रात को चांदी की रोशनी रहेगी। तब घुसपैठिये कम आते हैं लेकिन अभी दीपावली से पहले घुसपैठ की आशंका ज्यादा रहती है। दीपावली से पहले कृष्ण पक्ष के कारण अंधेरा काफी घना होता है और ज्यादा दूरी पर होने वाली हरकत सामान्य आंखों से नजर नहीं आती।

तस्करी के इनपुट है

दरअसल, बीएसएफ के पास समय समय पर तस्करी के इनपुट आते हैं। जिसके आधार पर बॉर्डर पर सिक्योरिटी बढ़ा दी जाती है। बीकानेर स्थित बॉर्डर पर करोड़ों रुपए की हेरोइन बरामद कर चुकी बीएसएफ ने इसी इनपुट के आधार पर बीकानेर में गश्त बढ़ा दी है। नाइट विजन उपकरण भी तैनात कर दिए गए हैं। इन उपकरणों के सहयोग से आधा किलोमीटर दूर तक होने वाली हरकत को आसानी से देखा जा सकता है। मुख्यालय से ये उपकरण जवानों को सौंप दिए गए हैं।

इस एरिया में ज्यादा गश्त

जानकारी के अनुसार दिवाली पर सीमा पार से घुसपैठ की आशंका को देखते हुए शहर से सरहद तक चौकसी ज्यादा हो रही है। सीमावर्ती क्षेत्र रणजीतपुरा खाजूवाला से लेकर सतराणा तक 158 किलोमीटर सीमा पर जवानों को अलर्ट किया गया है। इसी क्षेत्र में पहले भी दीपावली के आसपास घुसपैठ की सूचना आती रही है।

खुद डीआईजी ने की गश्त

जवानों का हौंसला बढ़ाने के लिए डीआईजी राठौड़ फिल्ड में पहुंच गए हैं। वहां ऊंट पर बैठकर उन्होंने भारत-पाक सीमा की तारबंदी के ठीक पास काफी दूर तक गश्त की। चौकियों पर पहुंचकर उन्होंने पाकिस्तान की तरफ होने वाली गतिविधियों पर नजर भी डाली।