Thursday, February 2निर्मीक - निष्पक्ष - विश्वसनीय
Shadow

बार संघ चुनाव:दो बार अध्यक्ष रह चुके रेवाड़ को 465 मतों के अंतर से हराकर बिश्नोई बने दूसरी बार अध्यक्ष

श्रीगंगानगर. बार एसोसिएशन के मंगलवार को हुए चुनाव में एडवोकेट सीताराम बिश्नोई लगातार दूसरी बार अध्यक्ष निर्वाचित हुए। बिश्नोई ने 465 मतों के अंतर से दो बार अध्यक्ष रहने का रिकॉर्ड बनाने वाले एडवोकेट विजय रेवाड़ को हराया। बहुकोणीय मुकाबले में एडवोकेट कुलदीप कुमार उपाध्यक्ष निर्वाचित हुए हैं। मंगलवार को बार एसोसिएशन कार्यालय में हुए मतदान में 1450 में से 1226 वकीलों ने मतदान किया।

सुबह 10 से शाम 4 बजे तक मतदान हुआ। शाम 7 बजे चुनाव परिणाम घोषित कर दिया गया। मुख्य चुनाव अधिकारी विपिन सिद्ध के अनुसार अध्यक्ष पद के लिए हुई मतगणना में 1226 मतों में 8 मत रद्द हो गए। बाकी मतों में विजयी रहे सीताराम बिश्नोई को 764, विजयकुमार रेवाड़ को 299 और तीसरे उम्मीदवार विजय कुमार चावला को 155 मत मिले।

सीताराम बिश्नोई ने 465 मतों के बड़े अंतर से विजय रेवाड़ को हराया। उपाध्यक्ष पद के लिए हुई मतगणना में 1266 मतों में से 6 मत रद्द हो गए। विजयी रहे कुलदीप कुमार को 333 मत मिले। दूसरे नंबर पर रहे निकटतम प्रतिद्वंद्वी नरेश काठपाल को 297 मत मिले। तीन उम्मीदवारों-अमित स्वामी को 228, आशीष व्यास को 184 और रणजीत सारड़ीवाल को 178 मत मिले।

एसोसिएशन कार्यालय में बनाए तीन बूथों पर मतदान हुआ। मतदान के दौरान कचहरी परिसर में गहमागहमी रही। सुबह से शाम चुनाव परिणाम घोषित होने तक वकीलों की भीड़ बार हाल के सामने स्थित पार्क में जमा रही। ज्योंही वकील मतदान करने आते तो वहां मौजूद अध्यक्ष व उपाध्यक्ष पद के प्रत्याशियों के समर्थक वोट देने का आग्रह करते। वकीलों ने चुनाव के चलते वर्क सस्पेंड कर रखा था। लेकिन मतदान की वजह से वकील दिनभर कचहरी परिसर में रहे।

अध्यक्ष सीताराम बिश्नोई बोले: कोर्ट काम्पलेक्स को पूरा करवाना रहेगी पहली प्राथमिकता

विजय रेवाड़ वर्ष 2019 और 2020 में अध्यक्ष रहे। दोनों चुनाव जीते। वर्ष 2020 में बार के इतिहास में लगातार दो बार अध्यक्ष निर्वाचित होने का रिकॉर्ड विजय रेवाड़ के नाम बना था। अजीब संयोग रहा कि तीसरी बार चुनाव लड़ने पर विजय रेवाड़ भारी मतों के अंतर से हारे। दो बार के अध्यक्ष रेवाड़ को हराकर सीताराम बिश्नोई लगातार दूसरी बार अध्यक्ष बने।

हालांकि बिश्नोई का ये तीसरा चुनाव था। वर्ष 2020 में लड़े पहले चुनाव में बिश्नोई विजय रेवाड़ से हार गए थे। दूसरी बार 2021 में अध्यक्ष पद का चुनाव जीता। इस बार बिश्नोई तीसरी बार चुनाव लड़ थे। दोनों बार बिश्नोई 450+ मतों के अंतर से जीते। बिश्नोई ने वर्ष 2021 में भावना स्वामी को 458 मतों के अंतर से हराया था। इस बार 465 मतों के अंतर से जीत दर्ज की।

नवनिर्वाचित अध्यक्ष सीताराम बिश्नोई के अनुसार पुरानी शुगर मिल की जमीन पर बन रहे कोर्ट काम्पलेक्स को पूरा करवाना उनकी प्राथमिकता रहेगी। इसके लिए सरकार से संपर्क किया जाएगा। जूनियर वकीलों को चैंबर दिलाने के लिए नए कोर्ट काम्पलेक्स में तीन बीघा अतिरिक्त जमीन आरक्षित करवाई जाएगी। छह सौ चैंबर बनाने की मांग रखी जाएगी। वकीलों की अन्य समस्याओं का समाधान करवाया जाएगा।