Friday, February 3निर्मीक - निष्पक्ष - विश्वसनीय
Shadow

पेंशनर्स के जीवित होने का भौतिक सत्यापन:सहायता के लिए आगे आई M. COM. प्रियंका, घर-घर जाकर करेगी वैरिफिकेशन

अनूपगढ. राज्य सरकार की तरफ से प्रत्येक वर्ष के पेंशनर्स को जीवित होने का प्रमाण पत्र का भौतिक सत्यापण ऑनलाइन करवाना आवश्यक होता है। पेंशनर्स को मोबाइल व ऑनलाइन संबंधी जानकारी नहीं होने के कारण एवं कई पेंशनर्स को ईमित्रा पर जाने के लिए आने वाली परेशानियों को देखते हुए जिलाध्यक्ष मलकीयत सिंह गिल एवं तहसील कोषाध्यक्ष राजेंद्र प्रसाद सिड़ाना ने सभी पेंशनर्स का घर-घर जाकर निशुल्क सत्यापण करवाने का निर्णय लिया था।

कोषाध्यक्ष सिड़ाना व जिलाध्यक्ष गिल की तरफ से इस कार्य के लिए एमकॉम की छात्रा प्रिंयका बाघला पुत्री सुरेंद्र बाघला को इस बारे में चर्चा की तो उन्होंने सेवानिवृत कर्मचारियों के लिए सहयोग देने की इच्छा जताई। हालांकि प्रियंका का कोई भी परिजन सेवानिवृत कर्मचारी नहीं हैं। वृद्धजनों एवं महिलाओं की सहायता के लिए उन्होंनें सहायता करने के लिए आगे आई हैं। बुधवार को उन्होंनें पेंशनर्स मधु नागपाल, संतोष सेठी, कुलदीप कौर वोहर, राजेंद्र कुमार व सरोज सरना के घर जाकर इस कार्य की शुरुआत भी कर दी। उन्होंनें रेटिना के मैंचिंग करवाकर ऑनलाइन भौतिक सत्यापन किया। प्रियंका के सेवा भाव को देखकर सेवानिवृत कर्मचारियों से प्रियंका के इस भाव की सराहना की तथा जिलाध्यक्ष व उपशाखा के पदाधिकारियों को भी धन्यवाद दिया।

इससे पूर्व जिलाध्यक्ष मलकीयत सिंह गिल ने जिला वरिष्ठ उपाध्यक्ष कुलदीप सिंह दयोल,तहसील अध्यक्ष जगतार सिंह,सरंक्षक चैन सिंह,मुख्य सलाहकार जंगीर सिंह,सचिव मुल्खराज, जिला मुख्य सलाहकार किशन सिंह राजपुरोहित,प्रवक्ता गुलशेर अहमद सदस्य जान मोहम्मद एवं जगजीत सिंह सहित अन्य से इस संबंध में मंत्रणा कर स्वीकृति ली।

अब बैंक में ही होगा पेंशनर्स का भौतिक सत्यापन

जिलाध्यक्ष गिल ने बताया कि जब प्रियंका कई घरों में पेंशनर्स का भौतिक सत्यापन कर घर पहुंची तो जिला कार्यकारिणी के जिला मंत्री घनश्याम शर्मा व जंगीर सिंह से उन्हें सूचना मिली कि भविष्य में पेंशनर्स को जीवित प्रमाण पत्र एवं भौतिक सत्यापन बैंक में ही किया जाएगा। जिसके लिए पेंशनर्स को पीपीओ एवं आधार कार्ड की प्रति लेकर जाना होगा।