Saturday, December 3निर्मीक - निष्पक्ष - विश्वसनीय
Shadow

पूर्व मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे ने उत्तमसिंह से दूरभाष पर बात कर दी बधाई

  • हरसंभव सहयोग के लिए किया आश्वस्त
    हनुमानगढ़ (सीमा सन्देश न्यूज)।
    आईआईटी दिल्ली में चयनित हुए सुरेशिया निवासी उत्तमसिंह से शनिवार को पूर्व मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे सिंधिया ने दूरभाष पर वार्ता की। वसुंधरा राजे सिंधिया ने उत्तमसिंह को बधाई देते हुए हौसला अफजाई करते हुए भविष्य के लिए शुभकामनाएं दी। साथ ही हरसंभव सहयोग के लिए आश्वस्त किया। गौरतलब है कि तत्कालीन जिला कलक्टर पीसी किशन की ओर से जंक्शन के सुरेशिया क्षेत्र में खोली गई जॉन मिल्टन लाइब्रेरी में पढ़ने वाले स्टूडेंट उत्तमसिंह पुत्र गजेन्द्र सिंह लोदी का हाल ही में आईआईटी दिल्ली में चयन हुआ है। जॉन मिल्टन लाइब्रेरी का उद्घाटन तत्कालीन मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे सिंधिया की ओर से किया गया था। तब तत्कालीन जिला कलक्टर पीसी किशन ने चैस के खिलाड़ी उत्तमसिंह की मुलाकात सिंधिया से करवाई थी। तत्कालीन जिला कलेक्टर पीसी किशन ने जिले में जिला कलक्टर रहते हुए पिछड़े इलाकों में 39 लाइब्रेरी खोली थी। इनमें भामाशाहों के सहयोग से हजारों की संख्या में पुस्तकें भी पढ़ने के लिए रखवाई गई थीं। मकसद था कि पिछड़े इलाकों के बच्चे नशे से दूर रहते हुए इन लाइब्रेरी में पढ़कर अच्छा मुकाम हासिल कर सकें। उत्तमसिंह के पिता गजेन्द्र सिंह लोदी वेल्डिंग की दुकान पर काम करते हैं। छात्र उत्तमसिंह ने शुक्रवार को वर्तमान जिला कलक्टर नथमल डिडेल से मुलाकात की तो जिला कलक्टर ने छात्र की हौसला अफजाई करते हुए पैन गिफ्ट किया और उज्ज्वल भविष्य की कामना की। तत्कालीन जिला कलक्टर पीसी किशन की ओर से लाइब्रेरी खोलने के दौरान सक्रिय रहे जिला कलक्ट्रेट कार्यालय के कार्यालय अधीक्षक बृजमोहन सोखल ने भी शनिवार को उत्तमसिंह को किताब भेंट की। सोखल ने बताया कि तत्कालीन जिला कलक्टर ने हनुमानगढ़ जिला मुख्यालय पर 7 लाइब्रेरी समेत जिले भर में पिछड़े इलाकों में कुल 39 लाइब्रेरी खोली थी। लाइब्रेरी में दिल्ली समेत कई जगहों से पुस्तकें मंगवाई गई। कानपुर से आईआईटी की हिंदी माध्यम की पुस्तकें मंगवाई गई थी। लाइब्रेरी में शतरंज खेलने की भी व्यवस्था की गई थी। स्टूडेंट उत्तम और उसके दो भाई कुलश्रेष्ठ व विशाल पढ़ाई के साथ-साथ शतरंज के भी अच्छे खिलाड़ी थे। वहीं स्टूडेंट उत्तमसिंह ने कहा कि वह भी इस देश के लिए कुछ करना चाहता है। तत्कालीन जिला कलक्टर पीसी किशन की तरह युवाओं को नशे की तरफ जाने से रोकने के लिए कोई अलग कार्य करने की उसकी भी तमन्ना है। उत्तमसिंह के अनुसार वह आगे आईआईएम में पढ़ाई कर देश सेवा करना चाहता है।