Thursday, February 2निर्मीक - निष्पक्ष - विश्वसनीय
Shadow

पाकिस्तान से जुड़े ड्रग मॉड्यूल का पदार्फाश, 17 गिरफ्तार

श्रीनगर (वार्ता). जम्मू-कश्मीर पुलिस ने उत्तरी कश्मीर के कुपवाड़ा और बारामूला जिलों में छह पुलिसकर्मियों सहित 17 लोगों को गिरफ्तार कर मादक पदार्थों की तस्करी के पाकिस्तान से जुड़े एक मॉड्यूल का भंडाफोड़ करके एक बड़ी सफलता हासिल की है।
पुलिस ने शुक्रवार को बताया कि गिरफ्तार किए गए लोगों में कुपवाड़ा और बारामूला जिले के विभिन्न इलाकों के पांच पुलिसकर्मी, एक राजनीतिक कार्यकर्ता, एक ठेकेदार और एक दुकानदार शामिल हैं। पुलिस ने इन गिरफ्तारियों के साथ ही पाकिस्तान से आने वाले नशीले पदार्थों की तस्करी के मॉड्यूल का खुलासा किया है।
गुप्त सूचना के आधार पर पुलिस ने कुपवाड़ा शहर और उसके आस-पास के इलाकों में सक्रिय कुछ ड्रग तस्करों पर ध्यान केंद्रित किया तथा दजीर्पुरा के एक पोल्ट्री शॉप के मालिक मोहम्मद वसीम नजर को गिरफ्तार किया। पुलिस ने उसके आवास से कुछ मात्रा में नशीला पदार्थ भी बरामद किया।
प्रारंभिक जांच के बाद, वसीम ने ड्रग तस्करों के एक बड़े समूह का हिस्सा होना स्वीकार किया और इस अवैध व्यापार में शामिल इस जिले के साथ-साथ बारामूला जिले के उरी के सीमावर्ती क्षेत्र से जुड़े अपने कुछ सहयोगियों के नामों का खुलासा किया। इसके बाद जिले भर में विभिन्न स्थानों पर छापेमारी की गई और 16 और लोगों को गिरफ्तार किया गया।
गिरफ्तार किए गए लोगों में हारून रशीद भट (विशेष पुलिस अधिकारी-एसपीओ), इरशाद अहमद खान (एसपीओ), इशफाक हबीब खान (राजनीतिक कार्यकर्ता), ताहिर अहमद मलिक, ड्राई फ्रूट्स की दुकान के मालिक खुर्शीद अहमद खान और उसके बेटे इम्तियाज खान, तमहीद अहमद खान (मूल रूप से केरान निवासी और अब पाकिस्तान के पीओके स्थित आतंकवादी हैंडलर), रोमन मुश्ताक भट, आसिफ राशिद हाजम, सज्जाद अहमद भट (एसपीओ), अब्दुल मजीद भट (पुलिस कांस्टेबल), जाहिद मकबूल डार (एसपीओ), आबिद अली भट, ठेकेदार तनवीर अहमद वानी, नदीम जावेद और ताहिर अहमद खान शामिल हैं।
पुलिस के मुताबिक इस मॉड्यूल के खुलासे ने कश्मीरी युवाओं को नष्ट करने के उद्देश्य से कश्मीर घाटी में नशीले पदार्थों को जबरन फैलाने में पाकिस्तान स्थित आतंकवादी संचालकों की सीधी संलिप्तता को उजागर किया। इस विशेष मामले में मूल रूप से पाकिस्तान स्थित आतंकवादी हैंडलर शाकिर अली खान नियंत्रण रेखा (एलओसी) के इस तरफ केरान में अपने बेटे तहमीद खान का इस्तेमाल कर नशीले पदार्थों का मुख्य आपूर्तिकर्ता बनकर सामने आया है।
तहमीद के कबूलनामे और खुलासे पर उसके घर से नशीला पदार्थ जैसे 2.0 किलोग्राम हेरोइन के दो पैकेट भी बरामद किए गए हैं। तहमीद इसे कुपवाड़ा ले जाकर अपने अन्य गिरफ्तार साथियों के बीच बेचकर मोटी कमाई करता था।
तहमीद के पिता शाकिर अली खान ने 1990 के दशक की शुरूआत में आतंकवादी गुटों में शामिल होने के लिए नियंत्रण रेखा पार की थी। अवैध हथियारों और गोला-बारूद का प्रशिक्षण प्राप्त करने के बाद, उसने वापस घुसपैठ की तथा केरान-कुपवाड़ा सेक्टर में कुछ समय के लिए हिजबुल मुजाहिदीन (एचएम) के शीर्ष सक्रिय आतंकवादियों में से एक बना रहा।
सुरक्षा बलों की सक्रियता महसूस करते हुए, शाकिर फिर से एलओसी पार कर गया और पीओके चला गया तथा अब एक शीर्ष आतंकवादी हैंडलर है। शाकिर कश्मीर घाटी में हथियारों, गोला-बारूद और नशीले पदार्थों को फैलाने में भी शामिल है।
इस संबंध में कुपवाड़ा थाना में एक मामला दर्ज किया गया है और एक विशेष जांच दल (एसआईटी) की ओर से जांच की जा रही है। यह जांच के दौरान सामने आया है कि इस मॉड्यूल के तहमीद खान पिछले तीन महीनों के दौरान बाजार में 5.0 करोड़ रुपये मूल्य के लगभग 5.0 किलोग्राम के नशीले पदार्थों को पाकिस्तान से तस्करी कर लाया है।
इस 5.0 किलोग्राम नशीले पदार्थ में से लगभग 2.0 किलोग्राम बरामद किया गया है जबकि लगभग 1.0 किलोग्राम नशा करने वालों और नशेड़ियों के बीच बेचा गया है। इसमें से लगभग 2.0 किलोग्राम का पता लगाया जाना बाकी है।
उल्लेखनीय है कि जिले में चालू वर्ष के दौरान 161 लोगों के खिलाफ 85 मामले दर्ज किये गये हैं। मादक पदार्थों की तस्करी में शामिल 33 लोगों को हिरासत में लेकर जन सुरक्षा कानून (पीएसए) व पीआईटी-एनडीपीएस एक्ट के तहत अलग-अलग जेलों में रखा गया है।
संजय,आशा
वार्ता