Friday, December 9निर्मीक - निष्पक्ष - विश्वसनीय
Shadow

पांचवी-आठवीं बोर्ड परीक्षा:इस बार भी बोर्ड पैटर्न पर होगा एग्जाम, स्टूडेंट्स के रिकार्ड सही करने के निर्देश

बीकानेर

प्रदेश के करीब बीस लाख स्टूडेंट्स को इस बार भी बोर्ड पैटर्न पर एग्जाम देकर पांचवीं व आठवीं क्लास पास करनी होगी। शिक्षा विभाग ने दोनों क्लासेज के लिए ऑनलाइन आवेदन की तैयारी शुरू कर दी है। पहले चरण में सभी स्कूल्स को स्टूडेंट्स का रिकार्ड अपडेट करना होगा।

शिक्षा विभागीय पंजीयक कार्यालय की ओर से सभी जिला शिक्षा अधिकारियों को आदेश दिया गया है कि स्टूडेंट्स का रिकार्ड अपडेट किया जाए। इसके लिए सरकारी स्कूल्स को शाला दर्पण पोर्टल और प्राइवेट स्कूल्स को पीएसपी पोर्टल पर रिकार्ड को अपडेट करना होगा। पिछले साल भी पीएसपी और शाला दर्पण पोर्टल पर रिकार्ड में भारी कमियां थी, जिससे एग्जाम करवाने में दिक्कत हुई।

ये कमियां दूर करनी होगी

शिक्षा विभाग ने स्टूडेंट्स के नाम, पिता का नाम और माता के नाम को चैक करने और उसमें आवश्यक संशोधन करने के निर्देश दिए हैं। आमतौर पर एग्जाम के बाद डाइट्स को सालभर रिकार्ड में संशोधन करना पड़ता है। इस बार ये काम एग्जाम से पहले करना होगा। जो स्टूडेंट्स तृतीय भाषा में बदलना चाहते हैं वो बदल सकते हैं। जो स्कूल मान्यता मिलने के बाद अब तक विभाग के पोर्टल पर नजर नहीं आ रहे हैं, उन्हें पोर्टल पर अपडेट करने के निर्देश दिए गए हैं।

इन मुद्दों पर नहीं हुआ निर्णय

पांचवीं बोर्ड की परीक्षा के दौरान स्टूडेंट्स का सेंटर अन्यत्र स्कूल के बजाय उसी के स्कूल में रखने की मांग अर्से से की जा रही है। छोटे बच्चों को अपने घर से दस से पंद्रह किलोमीटर दूर तक एग्जाम देने जाना पड़ता है। तेज गर्मी के मौसम में कई बार बच्चे बीमार हो जाते हैं। शिक्षक संगठन और अभिभावक इनकी परीक्षा का सेंटर खुद की स्कूल ही रखने की मांग की जा रही है। अब तक इस पर कोई निर्णय नहीं हुआ।

बीस लाख से ज्यादा स्टूडेंट्स

राज्य में हर साल पांचवीं और आठवीं में बीस लाख से ज्यादा स्टूडेंट्स हिस्सा लेते हैं। दोनों क्लासेज में स्टूडेंट्स दस लाख से ज्यादा होते हैं। दो साल बोर्ड एग्जाम नहीं होने के कारण स्टूडेंट्स को प्रमोट किया गया था लेकिन पिछले साल एग्जाम हुए थे।