Wednesday, February 1निर्मीक - निष्पक्ष - विश्वसनीय
Shadow

‘पठान’ को लेकर मुस्लिम समुदाय भी नाराज, उलेमा बोर्ड ने कहा- फिल्म को नहीं होने देंगे रिलीज

नई दिल्ली। शाह रुख खान की फिल्म पठान के गाने बेशरम रंग को लेकर हुआ विवाद थमता हुआ नहीं नजर आ रहा है। हिंदू के अलावा मुस्लिम समुदाय के लोगों ने फिल्म के गाने बेशरम रंग को लेकर आपत्ति जताई है।
अब मध्यप्रदेश में उलेमा बोर्ड के अध्यक्ष सैयद अनस अली ने एएनआई को एक इंटरव्यू दिया है। इसमें उन्होंने कहा है कि इस फिल्म से मुस्लिम समुदाय की भावनाएं आहत हुई है। उन्होंने कहा, ‘हम इस फिल्म को रिलीज होने नहीं देंगे। इसे मध्यप्रदेश ही नहीं, पूरे भारत में रिलीज नहीं होने देंगे। पठान मुस्लिम कम्युनिटी में बहुत ही सम्मानजनक माने जाते हैं। इस फिल्म के कारण पूरा मुस्लिम समुदाय बदनाम हुआ है। फिल्म का नाम पठान है और महिलाएं इसमें अश्लील डांस कर रही हैं। फिल्म में पठान समुदाय को गलत तरीके से दिखाया गया है।’
सैयद अनस अली आगे कहते हैं, ‘फिल्म के निमार्ताओं को नाम बदल देना चाहिए। शाह रुख खान को भी अपनी भूमिका का नाम बदलना होगा। इसके बाद आपको जो करना है करिए लेकिन हम इसे भारत में रिलीज होने नहीं देंगे। हम एफआईआर फाइल करने के बाद कानूनी लड़ाई लड़ेंगे।’ सैयद अनस अली ने यह भी कहा कि सेंसर बोर्ड से भी संपर्क करने का प्रयास करेंगे और फिल्म को रिलीज नहीं होने देने का पूरा प्रयास करेंगे।’
इसके पहले मध्य प्रदेश के गृह मंत्री नरोत्तम मिश्रा ने भी फिल्म के गाने बेशरम रंग को लेकर फिल्म के निमार्ता और निर्देशक पर निशाना साधा था। उन्होंने कहा था कि यह फिल्म गलत इरादे से बनाई गई है। वहीं उन्होंने दीपिका पादुकोण को टुकड़े टुकड़े गैंग का समर्थक भी बताया था। इस बीच पठान को सोशल मीडिया पर बायकॉट करने का भी ट्रेंड चल रहा है। वहीं फिल्म के बचाव में भी कई कलाकार आगे आए हैं।