Wednesday, February 1निर्मीक - निष्पक्ष - विश्वसनीय
Shadow

नाबालिगा से छेड़छाड़ के मामले में मुंह बोले नाना को तीन साल कारावास

-पोक्सो कोर्ट ने छह साल पुराने मामले में सुनाया निर्णय
श्रीगंगानगर।
घर में बीमार नाबालिगा से अश्लील हरकत करने के मामले में आरोपित मुंह बोले नाना को पोक्सो कोर्ट ने 3 साल कारावास और 45 हजार रुपए जुर्माने से दण्डित किया है। न्यायालय ने नियमानुसार पीड़िता को प्रतिकर दिलाने की भी अनुशंषा की है। मामले के अनुसार पीड़िता की मां ने सूतरगढ़ सिटी थाना क्षेत्र में परिवाद पेश किया। इसमें बताया कि 12 सितम्बर 2016 को मैं,मेरे पति दो पुत्रियों और पुत्र ने बाबा रामदेव मेले में दुकान लगा रखी थी। पीड़िता की तबीयत खराब होने के कारण वह घर पर थी। सुबह करीब 11 बजे नाबालिगा सो रही थी । इसी दौरान सुरेन्द्र सिंह पुत्र दयाल सिंह जिसे मैं मामा और बच्चे नाना कहते है घर पर आया। घर आते ही उसने सो रही नाबालिगा के साथ अशलील हरकत करना शुरू कर दिया। इस पर नाबालिगा अचानक उठी और उसका विरोध किया और चिल्लाने लगी। पीड़िता के चिल्लाने पर आरोपित वहां से भाग गया। इसके बाद पीड़िता मेले में लगाई दुकान पर पहुंची और पूरी घटना बारे बताया। रात करीब 8.30 बजे आरोपित सुरेन्द्र सिंह का फोन आया कि अगर इस मामले में पुलिस या किसी को बताया तो सबको मार देगा। पुलिस ने परिवाद के आधार पर मुकद्दमा दर्ज कर अनुसंधान के बाद आरोपित को गिरफ्तार कर सक्षम न्यायालय में चालान पेश किया। पोक्सो कोर्ट प्रथम के विशिष्ट लोक अभियोजक गुरचरण सिंह रुपाणा ने बताया कि मामले में अभियोजन की ओर से न्यायालय में 6 गवाह और 9 दस्तावेज प्रस्तुत किए गए। न्यायालय ने दोनों पक्षों को सुनने के बाद आरोपित सुरेन्द्र सिंह पुत्र दयाल सिंह को धारा 354 व पोक्सो एक्ट 7/8 में 3-3 साल कारावास व 20-20 हजार रुपए जुर्माना और धारा 451 में 1 साल कारावास व 5 हजार रुपए जुर्माने से दण्डित किया है। जुर्माना नहीं देने पर अतिरिक्त कारावास भुगतना होगा। सजा सुनाए जाने से पूर्व आरोपित जमानत पर था। सजा सुनाए जाने के बाद मुलजिम के जमानती मुचलके रद्द कर सजा भुगतने के लिए जेल भेज दिया।