Saturday, December 10निर्मीक - निष्पक्ष - विश्वसनीय
Shadow

दिल लगाकर इतना दमदार खेलें कि सामने वाला हो जाए चित्त : बलवान पूनिया

  • राजीव गांधी स्टेडियम में आयोजित हुआ समारोह
    हनुमानगढ़ (सीमा सन्देश न्यूज)।
    राजीव गांधी ग्रामीण ओलंपिक खेलों के जिला स्तरीय आयोजन का आगाज गुरुवार को हुआ। जंक्शन स्थित राजीव गांधी स्टेडियम में आयोजित समारोह में जिला कलक्टर नथमल डिडेल ने ध्वजारोहण कर 1 अक्टूबर तक चलने वाले खेलों का विधिवत उद्घाटन किया। इसके बाद खिलाड़ियों की ओर से मार्च पास्ट किया गया। अतिथियों ने मार्च पास्ट की सलामी की। समारोह में जिला प्रमुख कविता मेघवाल, भादरा विधायक बलवान पूनिया, प्रदेश कांग्रेस कमेटी सदस्य भूपेन्द्र चौधरी, अतिरिक्त जिला कलक्टर प्रतिभा देवठिया, जिला पुलिस अधीक्षक डॉ. अजयसिंह राठौड़, नगर परिषद सभापति गणेश राज बंसल, उपसभापति अनिल खीचड़, जिला अहिंसा बोर्ड के सह संयोजक तरुण विजय, प्रधान प्रतिनिधि दयाराम जाखड़, जिला परिषद सीईओ अशोक असीजा, उपखण्ड अधिकारी डॉ. अवि गर्ग, एडिशनल एसपी जस्साराम बोस, कोच बसंत सिंह मान, पीडब्ल्यूडी के अधिशाषी अभियंता अनिल अग्रवाल, पार्षद प्रतिनिधि मनोज बड़सीवाल, एडीईओ रणवीर शर्मा, पदम जैन सहित अन्य जनप्रतिनिधि-अधिकारी व गणमान्य नागरिक मौजूद रहे। इस दौरान छात्राओं ने सांस्कृतिक कार्यक्रम की प्रस्तुतियां दी। उद्घाटन कार्यक्रम को संबोधित करते हुए भादरा विधायक बलवान पूनिया ने कहा कि खेल की तरह दुनिया भी एक रंगमंच है। मुख्यमंत्री ने ग्रामीण प्रतिभाओं को अपनी प्रतिभा प्रदर्शित करने के लिए राजीव गांधी ग्रामीण ओलंपिक के रूप में मंच उपलब्ध करवाया है। इन खेलों का उत्साह इतना है कि बुजुर्गांे ने इनमें हिस्सा लिया। खिलाड़ी इन खेलों को ढंग से खेलें। इतनी मजबूती से खेलें कि हनुमानगढ़ जिले के खिलाड़ियों का खेल दुनिया देखे। पूनिया ने राजीव गांधी ग्रामीण ओलंपिक के जिला स्तरीय आयोजन में हिस्सा ले रहे खिलाड़ियों से आह्वान किया कि वे किसी भी खेल में हिस्सा लें, दिल लगाकर इतना दमदार खेलें कि सामने वाला चित्त हो जाए। उन्होंने कहा कि जिले के खिलाड़ी भी राष्टÑीय-अंतरराष्टÑीय खिलाड़ियों की तरह उदाहरण बनें। क्योंकि एक दिन अंतरराष्टÑीय स्तर पर खेलने वाला खिलाड़ी इसी तरह के कार्यक्रमों में उनके बीच सम्मान के साथ अतिथि के रूप में मंच पर विराजमान होगा। जिला कलक्टर नथमल डिडेल ने बताया कि मुख्यमंत्री ने बजट में घोषणा की थी कि पूरे राजस्थान में 29 अगस्त को खेल दिवस के मौके पर राजीव गांधी ग्रामीण ओलंपिक खेलों की शुरूआत की जाएगी। इन खेलों के सफल आयोजन के लिए 50 करोड़ रुपए से भी अधिक का बजट रखा गया। इस आयोजन के पीछे का मुख्य उद्देश्य इन खेलों की प्रतिस्पर्दा के माध्यम से ग्रामीण अंचल व समुदाय में समरसता का विकास हो। खेलों की ग्रामीण प्रतिभाएं जो अपनी प्रतिभा प्रदर्शित नहीं कर पाती उन्हें उचित मंच उपलब्ध हो। वे ग्राम स्तर से अपने खेल की शुरूआत कर राज्य स्तर तक बढ़ें। राज्य सरकार ने पिछले दिनों करीब 230 खिलाड़ियों को आउट आॅफ टर्न नौकरी देकर सकारात्मक माहौल बनाया है।
    70 टीमों के 784 खिलाड़ी दिखा रहे दमखम
    जिला खेलकूद अधिकारी शमशेर सिंह ने बताया कि जिला स्तर पर गुरुवार से शुरू हुए राजीव गांधी ग्रामीण ओलंपिक खेलों में जिले के सभी ब्लॉक से कुल 784 खिलाड़ियों की 70 टीमें हिस्सा ले रही हैं। इनमें सर्वाधिक 196 खिलाड़ी टेनिस बॉल क्रिकेट में, कबड्डी और हॉकी में 168-168 खिलाड़ी, वॉलीबॉल में 112, खो-खो में 84 और शूटिंग वॉलीबॉल में 56 खिलाड़ी हिस्सा ले रहे हैं। वहीं कुल 70 टीमों में से हॉकी, वॉलीबॉल, टेनिस क्रिकेट बॉल और कबड्डी की 14-14 टीमें और खो-खो व शूटिंग बॉल में 7-7 टीमें बनाई गई हैं। जिला स्तर पर विजेता टीमें 10 से 13 अक्टूबर तक राज्य स्तर पर आयोजित होने होने वाली प्रतियोगिताओं में हिस्सा लेंगी। उन्होंने बताया कि राजीव गांधी स्टेडियम सहित स्टेडियम के आसपास स्थित धर्मशालाओं, सामुदायिक भवन, अम्बेडकर भवन इत्यादि का चिह्निकरण खिलाड़ियों के लिए खाने व ठहरने की व्यवस्था की गई है। खिलाडियÞों के लिए नाश्ते, लंच व डिनर की व्यवस्था राजीव गांधी स्डेटियम में ही की गई है। राजीव गांधी स्टेडियम में कबड्डी के दो ग्राउंड, खो-खो के दो ग्राउंड, शूटिंग वॉलीबॉल व हॉकी का एक-एक ग्राउंड तैयार किया गया है जहां मैच होंगे। क्रिकेट मैच का आयोजन बैबी हैप्पी कॉलेज परिसर में होगा। गुरुवार व शुक्रवार की शाम को सांस्कृतिक संध्या का आयोजन भी राजीव गांधी स्टेडियम में किया जाएगा।