Thursday, February 2निर्मीक - निष्पक्ष - विश्वसनीय
Shadow

ठगी के पैसे आस्ट्रेलिया वाले अकाउंट में किए थे ट्रांसफर

  • एसीबी की जांच में खुलासा, कळ डिपार्टमेंट की सूचना सहायक कर चुकी है 3 विदेश यात्राएं
    जयपुर.
    एंटी करप्शन ब्यूरो के रडार पर आई सूचना प्रौद्योगिकी विभाग की सूचना सहायक प्रतिभा कमल की परेशानी बढ़ सकती है। एसीबी की जांच में एक पुराने मामले के तहत उनका आस्ट्रेलिया में भी बैंक अकाउंट मिला है। इस मामले में उनका पति अमित भी शामिल है। इस अकाउंट में ठगी के रुपए ट्रांसफर करवाए गए थे। इतना ही नहीं, प्रतिभा कमल तीन अलग-अलग देशों की यात्राएं कर चुकी हैं।
    एसीबी अधिकारियों के अनुसार तीन साल पहले एक आईटी कंपनी में काम करने वाले प्रतिभा कमल के पति ने कुछ साथियों के साथ मिलकर डेढ़ करोड़ की धोखाधड़ी की। ठगी के पैसे आॅस्ट्रेलिया में संचालित पत्नी प्रतिभा के खाते में जमा करवाए थे। इस संबंध में कपंनी ने वर्ष 2020 में विद्याधर नगर थाने में मुकदमा दर्ज करवाया था। इसकी जांच कमिश्नरेट में वरिष्ठ अधिकारियों द्वारा की जा रही है।
    एसीबी अधिकारियों को आशंका है कि इस अकाउंट में दो सालों में और भी रुपए ट्रांसफर किए गए होंगे। प्रतिभा कमल ने यूके,आॅस्ट्रेलिया और यूएई की यात्रा की है। इस दौरान संबंधित अधिकारियों से भी पूछताछ की जा सकती है। बताया जा रहा है कि इन दिनों की छुट्टियों के बिलों को पास करने वाले जिम्मेदारों पर भी एसीबी की गाज गिर सकती है।
    मंगलवार को एसीबी ने प्रतिभा के अनिता कॉलोनी स्थित घर व टोंक रोड स्थित पति के आॅफिस में सर्च कार्रवाई की थी। यहां से एसीबी ने 22.90 लाख रुपए, 1.3 किलो सोने के आभूषण, 2 किलो चांदी, बीएमडब्ल्यू कार, बीएमडब्ल्यू बाइक सहित चार वाहन, एक आॅफिस, एक फ्लैट, 7 दुकानें सहित 13 आवासीय व व्यवसायिक संपत्तियों के दस्तावेज जब्त किए थे। इसके अलावा एसीबी को परिजनों के नाम से 11 बैंक खाते, 12 बीमा पॉलिसी के दस्तावेज भी मिले थे। एसीबी ने बुधवार को उनके बैंक लॉकर की जांच करवाई थी, जो खाली मिला। यह संपत्ति प्रतिभा की आय से 1300 प्रतिशत ज्यादा है।
    प्रॉपर्टी का वैल्यूएशन कराएगी एसीबी
    एसीबी के डीजी बीएल सोनी ने बताया कि जयपुर डिस्कॉम के सहायक लेखाधिकारी दीपक कुमार गुप्ता के घर की सर्च कार्रवाई में मिली संपत्तियों की वैल्यू कराई जा रही है। बुधवार को दीपक के घर की सर्च के दौरान मिले लॉकर की जांच करवाई तो खाली निकला। इसके अलावा दीपक की निवाई व टोंक में जमीन होने की सूचना मिली थी। सोनी ने बताया कि एएओ दीपक कुमार के घर मिले दस्तावेज वाली संपत्तियों की वैल्यूएशन करवाने के लिए जेडीए को पत्र लिखा जा रहा है। इस मामले की जांच एडिशनल एसपी ललित किशोर शर्मा के नेतृत्व में गठित टीम कर रही है, जो दीपक के आॅफिस से भी जानकारी जुटा रही है।
    प्रतिभा ने जिन अधिकारियों के साथ काम किया उनकी भूमिका पर भी जांच
  • एसीबी को मिले पासपोर्ट की जांच में सामने आया कि प्रतिभा यूके, आॅस्ट्रेलिया व यूएई की यात्राएं कर चुकी। इसके अलावा ये सामने आया कि प्रतिभा हर महीने भारत में अलग-अलग राज्यों में घूमने जाती हैं।
  • वर्ष 2013 में सूचना सहायक के पद पर भर्ती हुई प्रतिभा कई विभागों में डेपुटेशन पर काम चुकी हैं। इसमें सूचना आयोग, हरदेव जोशी यूनिवर्सिटी सहित कई विभाग शामिल हैं। एसीबी उन अधिकारियों की जांच में जुटी है, जिनके साथ प्रतिभा ने अब तक काम किया है।
  • अमित ने पत्नी प्रतिभा के नाम से आॅस्ट्रेलिया के एक बैंक में अकाउंट खुलवाकर ठगी के कुछ पैसे उस खाते में जमा करवाए थे। इस मामले में विद्याधर नगर पुलिस ने आॅस्ट्रेलिया के बैंक से खाते की जानकारी मांगी तो देने से इनकार कर दिया। ऐसे में पुलिस ने मामले में एक बार एफआर लगा दी। कोर्ट से केस रि-ओपन हुआ है। जांच कमिश्नरेट के अधिकारी कर रहे हैं। इस दौरान सभी लोगों को हाईकोर्ट से अग्रिम जमानत मिलने की बात सामने आई है।
    जयपुर डिस्कॉम के सहायक लेखाधिकारी दीपक कुमार गुप्ता का जयपुर में बना दूसरा आलीशान बंगला। एसीबी ने प्रॉपर्टी के वैल्यूएशन के लिए जेडीए को लेटर भी लिखा है।
    जयपुर डिस्कॉम के सहायक लेखाधिकारी दीपक कुमार गुप्ता का जयपुर में बना दूसरा आलीशान बंगला। एसीबी ने प्रॉपर्टी के वैल्यूएशन के लिए जेडीए को लेटर भी लिखा है।
    दीपक और उसकी पत्नी के नाम से ये प्रॉपर्टी मिली
    दीपक के नाम एसएफएस मानसरोवर में प्लॉट
    पत्नी के नाम 252.55 वर्गगज का प्लाट चित्रकूट में
    पत्नी के नाम 1 बीघा 99 बिस्सा फागी में जमीन
    पत्नी के नाम फागी में ग्राम माधोराजपुरा तहसील में 1 बीघा जमीन
    पत्नी के नाम से फागी में 1 बीघा बारानी जमीन
    पत्नी के नाम से तहसील फागी जयपुर में कृषि भूमि 1 बीघा 9 बिस्वा जमीन
    पत्नी के नाम से आवासीय योजना गोपाल विहार 319.86 वर्गगज जमीन
    पत्नी के नाम से करतारपुरा में प्लाट नम्बर 40
    एंटी करप्शन ब्यूरो ने जयपुर के दो सरकारी अफसरों के घर सर्च किए तो टीम भी चौंक गई। सर्च में मिली करोड़ों की प्रॉपर्टी में जयपुर के पॉश इलाकों में खाली जमीनें और एक लग्जरी होटल भी शामिल हैं। दोनों के पास करीब 6.5 करोड़ और 16.31 करोड़ की प्रॉपर्टी मिली है।
    इनमें से एक सूचना एव तकनीकी विभाग में सूचना सहायक अभी सस्पेंड प्रतिभा कमल के घर सर्च के दौरान 6.5 करोड़ की संपत्ति मिली है। वहीं, जयपुर विद्युत वितरण निगम लिमिटेड में 70 हजार सैलरी पाने वाले सहायक लेखाधिकारी दीपक गुप्ता के पास 16.31 करोड़ की संपत्तियां मिली हैं।