Saturday, December 10निर्मीक - निष्पक्ष - विश्वसनीय
Shadow

टैंप्रेचर ने बिगाड़ा किन्नू का खेल:पिछले साल के मुकाबले कम आवक की उम्मीद, फरवरी में बढ़े तापमान का असर

श्रीगंगानगर. पिछले साल के मुकाबले इस बार टैंप्रेचर किन्नू का खेल बिगाड़ता नजर आ रहा है। पिछले साल अन्य वर्षों मे मुकाबले प्रोडेक्शन करीब एक लाख मीट्रिक टन कम हुआ था लेकिन इस बार इससे भी कम प्रोडक्शन होने की आशंका तेज होती जा रही है। नौ माह पहले इस साल फरवरी में अचानक तापमान 28 के पार हो जाने से किन्नू के बाग खराब हो गए और इलाके में किन्नू का प्रोडक्शन प्रभावित हो गया।
लगतार घटा है प्रोडक्शन
किन्नू का प्रोडक्शन इलाके में लगातार घटा है। पिछले साल वर्ष 2020-21 में यह 2.80 लाख मीट्रिक टन था जबकि उसके पिछले साल वर्ष 2019-20 में यह 3.80 लाख मीट्रिक टन था। किन्नू में आम तौर पर प्रोडक्शन एक साल कम और फिर उसके बाद अगले साल ज्यादा रहता है लेकिन इस बार यह इससे अलग रहा। वर्ष 2022-21 में किन्नू का प्रोडक्शन कम रहने से उम्मीद की जा रही थी कि इस बार वर्ष 2021-22 में प्रोडक्शन बंपर होगा लेकिन ऐसा हुआ नहीं है।