Thursday, December 8निर्मीक - निष्पक्ष - विश्वसनीय
Shadow

जॉनसन को बेबी पाउडर बनाने की इजाजत, बिक्री की नहीं:बॉम्बे हाईकोर्ट ने कहा- प्रोडक्शन करें, लेकिन अपने रिस्क पर

मुंबई

बॉम्बे हाईकोर्ट ने जॉनसन एंड जॉनसन (J&J) से कहा है कि वह अपने मुलुंड प्लांट में बेबी पाउडर बना सकती है, लेकिन इसकी बिक्री की इजाजत नहीं होगी। हाईकोर्ट ने बुधवार को कहा कि कंपनी बेबी पाउडर प्रोडक्शन अपने रिस्क पर करे। इसके डिस्ट्रीब्यूशन और सेल पर पाबंदी रहेगी।

हाईकोर्ट ने J&J के बेबी पाउडर सैंपल की फिर से जांच करने का भी आदेश दिया, जिसे दो हफ्ते के भीतर पूरा किया जाना है। महाराष्ट्र का फूड एंड ड्रग एडमिनिस्ट्रेशन यानी FDA यह सैंपल लेगा और उसे री-टेस्टिंग के लिए दो सरकारी लेबोरेटरी और एक प्राइवेट लेबोरेटरी में भेजा जाएगा।

जॉनसन ने प्रोडक्शन पर पाबंदी के आदेश को चुनौती दी थी
जॉनसन के बेबी पाउडर मैन्युफैक्चरिंग लाइसेंस को महाराष्ट्र सरकार ने कैंसिल कर दिया था। इसके आदेश 15 और 20 सितंबर को दिए गए थे। पहले आदेश में मुलुंड प्लांट में बेबी पाउडर बनाने का लाइसेंस कैंसिल किया गया था। वहीं, दूसरे आदेश में मैन्युफैक्चरिंग और डिस्ट्रीब्यूशन तुरंत रोकने को कहा गया था। हाईकोर्ट इन आदेशों के खिलाफ कंपनी की याचिका पर सुनवाई कर रहा है।

बेबी पाउडर स्टैंडर्ड क्वालिटी का न होने पर हुई थी कार्रवाई
सरकार ने FDA की एक रिपोर्ट के बाद ‘सार्वजनिक हित’ का हवाला देते हुए कंपनी का लाइसेंस कैंसिल किया था। रिपोर्ट में बताया गया था कि कंपनी के मुलुंड प्लांट में बने बेबी पाउडर का सैंपल ‘स्टैंडर्ड क्वालिटी का नहीं’ है। पाउडर की pH वैल्यू बच्चों की हेल्थ के लिए मेंडेटरी लिमिट से ज्यादा थी। कंपनी को उस प्रोडक्ट के स्टॉक को बाजार से वापस मंगाने का भी निर्देश दिया गया था।