Saturday, December 3निर्मीक - निष्पक्ष - विश्वसनीय
Shadow

जुआरियों के साथ था पति, पत्नी की लाश मिली:दीपावली के दिन से लापता थी महिला, जिस स्कूटी पर गई वो भी गायब

बीकानेर

दीपावली के दिन पति को जुआरियों के साथ देखा तो पत्नी को गुस्सा आ गया। घर आने पर पति-पत्नी में झगड़ा हुआ। नाराज होकर महिला घर से स्कूटी लेकर निकल गई। घर वाले महिला को ढूंढते रहे। आज सुबह महिला की लाश मिली। मामला बीकानेर के नयाशहर का है।

नयाशहर थानाधिकारी वेदपाल ने बताया कि 28 साल की डॉली आचार्य दीपावली के दिन स्कूटी से जा रही थी। रास्ते में उसने अपने पति गिरिराज को नत्थूसर गेट पर जुआ खेल रहे लोगों के पास देख लिया। इसी से वो नाराज हो गई। उसे पता था कि पति जुआ नहीं खेलता, लेकिन दीपावली पर जुआरियों को देखने जाना भी उसे पसंद नहीं आया। फोन कर पति को घर बुलाया और झगड़ा किया। दोनों के बीच विवाद बढ़ा तो स्कूटी लेकर निकल गई।

ससुराल और पीहर वाले शाम तक उसका इंतजार करते रहे, लेकिन वो नहीं आई। इसके बाद ढूंढना शुरू किया। देर रात तक भी नहीं मिली तो सोशल मीडिया पर गुमशुदा होने की सूचना डाली गई। दो दिन से बड़ी संख्या में लोग उसके फोटो शेयर कर रहे थे। तीन मोबाइल नंबर भी दिए गए थे।

बुधवार सुबह करीब 7 बजे कोलायत के कपिल सरोवर घाट पर लोग दर्शन करने पहुंचे। महिला का शव पानी में देखकर पुलिस को सूचना दी गई। मौके पर आई पुलिस ने डॉली के परिजनों को फोटो भेजा। इसके बाद परिजन मौके पर पहुंच गए।
स्कूटी नहीं मिली
महिला जिस स्कूटी पर गई थी, वो कोलायत में नजर नहीं आई। तालाब के आसपास भी नहीं है। माना जा रहा है कि बीकानेर में ही स्कूटी खड़ी कर महिला कोलायत निकली थी।

दो बच्चों की मां थी
डॉली की शादी करीब 8 साल पहले हुई थी। पति बीकानेर में जूनागढ़ के फेमस गणेश मंदिर में पुजारी है। उसके दो बच्चे हैं। इसमें एक लड़का और एक लड़की है। वह दोनों बच्चों को घर पर छोड़कर स्कूटी पर निकली थी। गुमशुदगी की रिपोर्ट बीकानेर के नया शहर थाना में दर्ज करवाई गई थी।

गुस्से में निकली थी घर से
महिला गुस्से में ही घर से निकली थी। ससुराल वालों ने सोचा कि कुछ देर में वापस आ जाएगी या अपने पीहर गई होगी। वहीं पीहर वालों ने सोचा कि वह अपने ससुराल ही है। रविवार शाम को इसे ढूंढने का प्रयास तेज हुआ। इसके बाद वह नहीं मिली।

कल ही ढूंढा था सरोवर में
महिला का शव जिस कपिल सरोवर में मिला है। वह बीकानेर से करीब 50 किलोमीटर की दूरी पर है। उसके लापता होने पर परिजनों ने मंगलवार को कोलायत आकर तालाब में छानबीन भी की थी, लेकिन कहीं कुछ नहीं मिला। बुधवार सुबह उसका शव मिला।

लव मैरिज की थी
डॉली व गिरिराज ने लव मैरिज की थी। दोनों एक ही समाज से थे इसलिए घरवालों को भी इससे आपत्ति नहीं थी। इसलिए विवाह करवा दिया।

कोलायत सीओ अरविंद ने बताया कि डॉली आचार्य का शव कपिल सरोवर में मिला है। उसकी गुमशुदगी नयाशहर थाने में दर्ज हुई थी। फिलहाल परिजनों ने कोई रिपोर्ट नहीं दी है, अगर देते हैं तो उसी आधार पर जांच की जाएगी।