Wednesday, February 1निर्मीक - निष्पक्ष - विश्वसनीय
Shadow

चंदा और दीपक कोचर 3 दिन की CBI कस्टडी में:ICICI बैंक की पूर्व MD पर लोन फ्रॉड का आरोप, शुक्रवार को हुई थी गिरफ्तारी

सेंट्रल ब्युरो ऑफ इन्व्हेस्टिगेशन (CBI) ने अब ICICI बैंक की पूर्व CEO चंदा कोचर और उनके पति दीपक कोचर को 3 दिन की हिरासत में ले लिया है। चंदा और दीपक कोचर को CBI ने एक दिन पहले शुक्रवार को गिरफ्तार किया। वीडियोकॉन ग्रुप को रेगुलेशन के खिलाफ जाकर दिए गए करोड़ों रुपए के लोन के मामले में ये गिरफ्तारी हुई। जब ये लोन दिए गए थे, उस समय चंदा बैंक में CEO और MD के पद पर थीं। इन लोन्स के NPA होने से बैंक को करोड़ों रुपए का नुकसान हुआ।

चंदा और दीपक कोचर को शनिवार को CBI की मुंबई स्पेशल कोर्ट में पेश किया गया। इसके बाद दोनों को CBI ने 3 दिन यानी 24 से 26 दिसंबर तक की हिरासत में लिया है। बिजनेस टुडे की एक रिपोर्ट में अधिकारियों के हवाले से कहा गया था कि कोचर परिवार को एजेंसी हेडक्वार्टर बुलाया था और पूछताछ के बाद गिरफ्तार कर लिया गया। CBI ने आरोप लगाया कि वे अपने जवाबों में टालमटोल कर रहे थे और जांच में सहयोग नहीं कर रहे थे।

वीडियोकॉन को लोन देकर फ्रॉड
दीपक और चंदा कोचर पर आरोप है कि उन्होंने ICICI बैंक की ओर से वीडियोकॉन को दिए गए लोन के जरिए फ्रॉड किया। ये लोन बाद में नॉन परफॉर्मिंग एसेट में बदल गए। इस मामले में दीपक और चंदा कोचर के खिलाफ CBI, ED, SFIO और आयकर विभाग जांच कर रहे हैं।

इसमें साल 2012 में वीडियोकॉन को दिया 3,250 करोड़ रुपए का लोन शामिल है। आरोपों के अनुसार, वीडियोकॉन ग्रुप के पूर्व चेयरमैन वेणुगोपाल धूत ने कोचर की कंपनी नूपॉवर रिन्यूएबल्स में वीडियोकॉन को लोन मिलने के बाद करोड़ों रुपए का निवेश किया था।

लोन को एक कमेटी से मंजूरी दी गई थी, जिसमें चंदा कोचर भी एक मेंबर थीं। अक्टूबर 2018 में इस मामले को लेकर चंदा को इस्तीफा देना पड़ा था।