Thursday, December 8निर्मीक - निष्पक्ष - विश्वसनीय
Shadow

‘गांधी परिवार को गुड बॉय बोलना बेवकूफी’, कांग्रेस अध्यक्ष उम्मीदवार बनते ही शशि थरूर के बदले सुर

नई दिल्ली
जी-23 की मुखर आवाज रहे सांसद शशि थरूर के सुर कांग्रेस अध्यक्ष का उम्मीदवार बनते ही बदल गए हैं। उन्होंने शनिवार को कहा कि गांधी परिवार को गुड बॉय बोलना बेवकूफी होगी। थरूर ने कहा, ‘गांधी परिवार और कांग्रेस पार्टी का डीएनए एक ही है। कांग्रेस की ऐतिहासिक भूमिका रही है, जिसमें गांधी और नेहरू परिवार के लोगों ने बड़े रोल निभाए हैं। इसलिए कोई भी अध्यक्ष इतना बेवकूफ नहीं है कि गांधी परिवार को गुड बॉय बोल दे। गांधी परिवार बहुत बड़ा एसेट है।’

शशि थरूर ने भारत जोड़ो यात्रा की भी जमकर तारीफ की। उन्होंने कहा, ‘मैं केरल में भारत जोड़ो यात्रा में शामिल होकर आया हूं। मैंने लोगों में राहुल गांधी के प्रति उत्साह देखा है। हजारों-लाखों की तादात में लोग समर्थन के लिए सड़क पर आ रहे हैं। भारत जोड़ो यात्रा 150 दिन तक चलने वाली है, जबकि हमारे चुनाव 20 दिन में खत्म हो जाएंगे। इसलिए कांग्रेस का जो नया अध्यक्ष चुनकर आए, उसे भारत जोड़ो यात्रा को आगे बढ़ाना चाहिए। नए कांग्रेस चीफ को इस यात्रा में खुद भी शामिल होना चाहिए।’

कांग्रेस में आतंरिक सुधार की मांग करता रहा G-23
मालूम हो कि जी-23 कांग्रेस के उन 23 असंतुष्ट नेताओं का समूह है, जो लगातार पार्टी के भीतर सुधार की मांग करते रहे हैं। इसे लेकर थरूर ने खुद कई बार जोर-शोर से आवाज उठाई है। लेकिन अब उनके सुर बदले हुए नजर आ रहे हैं। थरूर ने कहा कि गांधी परिवार कांग्रेस में रहेगा और उसे रहना भी चाहिए। इनका रोल बहुत स्पेशल है। उन्होंने कहा कि संविधान में अध्यक्ष को पूरी ताकत दी गई है। उसे किसी से पूछने की जरूरत नहीं है, लेकिन गांधी परिवार से चर्चा की जा सकती है।