Friday, February 3निर्मीक - निष्पक्ष - विश्वसनीय
Shadow

गहलोत बोले- रिटायरमेंट के बाद राजनीति की क्लास लूंगा:कहा- मंत्री शेखावत राजस्थान के हैं, धोखा दे रहे हैं, बुजुर्गों को मिले 3000 पेंशन

जयपुर. मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने कहा है कि चार साल में सरकार के खिलाफ माहौल नहीं है। यह पहला मौका है, जब सरकार के खिलाफ कोई माहौल नहीं है। इससे बड़ी सरकार की उपलब्धि क्या होगी? फिर भी विपक्ष के लोग हमारी सरकार, मंत्री और विधायकों के बारे में अफवाह फैलाते हैं। गहलोत सरकार के चार साल पूरे होने पर शनिवार को जवाहर कला केंद्र में प्रदर्शनी के उद्घाटन के बाद बोल रहे थे।

सियासी मामलों में मैनेजमेंट पर गहलोत ने कहा- मैं जब पॉलिटिकल रिटायरमेंट ले लूंगा तो पॉलिटिकल क्लास लूंगा, उसमें सब स्किल और अनुभव का जिक्र होगा।

इस दौरान ERCP के मुद्दे पर केंद्रीय मंत्री गजेंद्र सिंह शेखावत काे घेरा और कहा कि वे राजस्थान के हैं और धोखा दे रहे हैं।

मोदीजी, पूरे देश में सोशल सिक्योरिटी लागू कीजिए
गहलोत ने कहा- ओल्ड पेंशन स्कीम (OPS) का भार 25 साल बाद पड़ेगा। जो कर्मचारी 35 साल सरकार की सेवा करता है, उसकी सुरक्षा क्यों नहीं हो? अब जमाना सोशल सिक्योरिटी का है। विकसित देशों में सप्ताह में पैसा मिलता है। अब वक्त आ गया है मोदीजी, देश में सोशल सिक्योरिटी लागू कीजिए। केंद्र 200 रुपए की बुजुर्ग पेंशन देता है, 200 रुपए में क्या होता है? पूरे देश में नीति बने और सबको कम से कम 2000 से 3000 रुपए पेंशन मिले। इसमें आधा पैसा केंद्र सरकार और आधा राज्य दे।

पीएम मोदी से लेकर बड़े अर्थशास्त्री तक ओपीएस के खिलाफ
गहलोत ने कहा कि कर्मचारियों के लिए हमने ओपीएस लागू की, इसका विरोध भी हो रहा है। नीति आयोग ने विरोध किया, वित्त आयोग के अध्यक्ष एनके सिंह ने विरोध किया है। दुनिया के कई अर्थशास्त्री इसका विरोध कर रहे हैं। खुद प्रधानमंत्री ओपीएस के खिलाफ है। हमने मानवीय आधार पर ओपीएस लागू किया है। जो कर्मचारी 35 साल सरकार की सेवा में रहता है, उसे सुरक्षा का एहसास तो होना ही चाहिए। यही मानवीय आधार देखकर मैंने ओपीएस लागू की।

हिमाचल के बीजेपी सीएम दिल्ली जाकर OPS लागू करने गिड़गिड़ाए थे
गहलोत ने कहा- हिमाचल के मुख्यमंत्री दिल्ली में जाकर सबके सामने गिड़गिड़ाए है कि हमें ओल्ड पेंशन लागू करने दो, नहीं तो चुनाव हार जाएंगे । उनकी एक बात नहीं सुनी गई और हिमाचल के नतीजों के एक दिन बाद एनके सिंह का स्टेटमेंट आ गया इसके खिलाफ। पीएम तो इसके शुरू से खिलाफ हैं।

ERCP पर धोखा दे रहे हैं शेखावत
गहलोत ने कहा-ईस्टर्न राजस्थान कैनाल 13 जिलों की योजना है, वहां पानी का भारी संकट है। ERCP में हमारे यहां के मंत्री शेखावत धोखा दे रहे हैं। जलशक्ति मंत्री गजेंद्र सिंह शेखावत राजस्थान के हैं, लेकिन वे धोखा दे रहे हैं। ERCP को राष्ट्रीय परियोजना घोषित नहीं करने पर जब हमने इसका काम शुरू करने का फैसला किया तो अब कह रहे हैं, बंद कर दो। यह कहने की हिम्मत कैसे हो गई। हमने 9500 करोड़ का प्रावधान कर दिया। जब तक पीएम मोदी इसे नेशनल प्रोजेक्ट घोषित नहीं करे, तब तक काम रुके नहीं, इसलिए हमने 9500 करोड़ का प्रावधान किया।