Saturday, December 10निर्मीक - निष्पक्ष - विश्वसनीय
Shadow

क्यों ना चाहकर भी पायलट को CM बनाने को मजबूर हो सकते हैं गहलोत

जयपुर
कांग्रेस अध्यक्ष और राजस्थान में मुख्यमंत्री के पद को लेकर तमाम तरह की अटकलें लगाई जा रही हैं। राजस्थान के सीएम अशोक गहलोत ने यह साफ कर दिया है कि वह इंडियन नेशनल कांग्रेस के प्रमुख पद के लिए दावेदारी पेश करने जा रहे हैं। शशि थरूर के खिलाफ मुकाबले में उनकी जीत की संभावनाएं भी प्रबल हैं। ऐसे में अब अध्यक्ष पद के चुनाव से ज्यादा लोगों की दिलचस्पी इस बात को लेकर है कि राजस्थान में क्या होगा? 
पार्टी की कमान के साथ राजस्थान की कुर्सी भी अपने पास रखने की इच्छा रखने वाले गहलोत ने राहुल गांधी की ओर से ‘एक व्यक्ति एक पद’ के फॉर्मुले की याद दिलाए जाने के बाद यूटर्न लिया। वह इस बात पर राजी हो गए हैं कि अध्यक्ष चुने जाने पर सीएम पद से इस्तीफा दे देंगे। हालांकि, पार्टी सूत्रों का यह भी कहना है कि गहलोत भले ही कुर्सी छोड़ने को तैयार हैं, लेकिन इतंजार में बैठे सचिन पायलट को वह सत्ता नहीं सौंपना चाहते हैं। गहलोत विधानसभा अध्यक्ष सीपी जोशी समेत अन्य करीबी नेताओं को उत्तराधिकारी बनाने का दांव खेलने का प्रयास करेंगे।