Thursday, December 8निर्मीक - निष्पक्ष - विश्वसनीय
Shadow

किसानों ने निकाला फतेह मार्च:ट्रैक्टरों और जीपों पर  निकले किसान, कृषि कानून वापस लेने को बताया जीत

श्रीगंगानगर. तीन कृषि कानून वापस लेने का एक साल पूरा होने पर किसानों ने जिले के पदमपुर में फतेह मार्च निकाला। किसान जीप, ट्रैक्टर ट्रॉलियों आदि पर निकले तथा पदमपुर से 18 बीबी टोल नाके तक पहुंचे। किसानों का कहना था कि उनकी एकता के सामने केंद्र सरकार कृषि कानून वापस लेने पड़े थे। पिछले साल 19 नवम्बर को ये तीनों कृषि कानून वापस लिए गए थे। ऐसे में एक साल पूरा होने पर किसानों की इस जीत को याद किया गया।

पदमपुर धानमंडी में इकट्‌ठे हुए किसान
कार्यक्रम का आयोजन ग्रामीण किसान मजदूर समिति ( जीकेएस ) के बैनर तले किया गया। किसान पदमपुर की धानमंडी में एकत्र हुए। यहां व्यापार मंडल भवन के सामने किसानों ने सभा की। इसके बाद पदमपुर के मुख्य बाजार में भी सभा हुई। यहां हुई सभा में जीकेएस के रणजीतसिंह राजू और गंगनहर प्रोजेक्ट चेयरमैन हरविंद्रसिंह गिल ने संबोधित किया। दोनों किसान नेताओं का कहना था कि किसानों की एकता का ही परिणाम रहा कि केंद्र सरकार को किसानों की बात माननी पड़ी। किसान पदमपुर से गांव 18 बीबी के टोल नाके तक पहुंचे।
सभा में किसान नेता राजू नें किसानों की एकता पर बल देते हुए कहा कि किसानों को खेती के मुद्दों पर एक होना होगा । गंगनहर प्रोजेक्ट चेयरमैन हरविंद्र सिंह गिल ने कहा कि किसानों की एकता से ही खेती – किसानी को बचाया जा सकता है । इस कार्यक्रम में जीकेएस पदमपुर ब्लॉक अध्यक्ष रिछपाल सिंह मक्कासर, चूनावढ़ अध्यक्ष रामकुमार सहारण, आईजीएनपी बुगिया वितरिका अध्यक्ष राजा हेयर, रायसिंहनगर ब्लॉक अध्यक्ष हरविंद्र सिंह सहित कई लोग मौजूद थे।