Wednesday, February 1निर्मीक - निष्पक्ष - विश्वसनीय
Shadow

कार्य बहिष्कार 13वें दिन जारी, जल्द आंदोलन समाप्त होने की संभावना

  • जयपुर में चल रहा वार्ताओं का दौर, आंदोलन से बदली जा रही प्रकरणों की तारीखें
    हनुमानगढ़ (सीमा सन्देश न्यूज)।
    जयपुर में न्यायिक कर्मचारी सुभाष मेहरा की संदिग्ध परिस्थितियों में मौत के मामले में हनुमानगढ़ जिला मुख्यालय पर स्थित जिला एवं सेशन न्यायालय परिसर में न्यायिक कर्मचारियों की ओर से दिया जा रहा धरना सोमवार को 13वें दिन भी जारी रहा। धरनास्थल पर मौजूद न्यायिक कर्मचारियों ने मांगों के समर्थन में नारेबाजी की। उधर, संभावना जताई जा रही है कि वार्ता का दौर जारी रहने से जल्द आंदोलन समाप्त हो सकता है। साथ ही राजस्थान न्यायिक कर्मचारी संघ के प्रदेश पदाधिकारियों की ओर से किसी प्रकार की सहमति न बनने तक यह आंदोलन इसी तरह जारी रखने के लिए निर्देशित किया गया है। न्यायिक कर्मचारियों के लगातार कार्य बहिष्कार पर रहने से जिले के सभी न्यायालयों में कामकाज ठप पड़ा है। अब तक रोजाना कई प्रकरणों में तारीखें बदली जा रही हैं। इससे पक्षकारों को भी परेशानियों का सामना करना पड़ रहा है। न्यायिक कर्मचारी संघ के रूपेश कुमार ने कहा कि जब तक सहायक कर्मचारी सुभाष मेहरा की मृत्यु के संबंध में एफआईआर दर्ज नहीं होती तब तक प्रदेश न्यायिक कर्मचारी संघ के आह्वान पर सभी कर्मचारी सामूहिक अवकाश पर रहेंगे। उन्होंने कहा कि हमारी मांग न्याय को लेकर है, एक सामान्य घटना का मुकदमा दर्ज हो जाता है लेकिन एक न्यायिक कर्मचारी की संदिग्ध अवस्था में मृत्यु की जांच को लेकर अभी तक कोई भी एफआईआर दर्ज नहीं हुई है। उन्होंने बताया कि सहायक कर्मचारी मेहरा को न्याय दिलाने की मांग को लेकर पिछले 13 दिन से न्यायिक कर्मचारी लगातार सामूहिक हड़ताल पर रहकर धरना-प्रदर्शन कर रहे हैं। उन्होंने कहा कि जब तक हमारी मांगें पूरी नहीं होती हैं तथा सहायक कर्मचारी मेहरा को न्याय नहीं मिलता है, तब तक कर्मचारियों की ओर से यह सामूहिक अवकाश पर रहकर हड़ताल जारी रहेगी। इस मौके पर मनोज रहेजा, रवि स्वामी, संदीप सहगल, मनोज पाण्डे, सुनील, सुधीर दाधीच, मधुसूदन शर्मा, रविशंकर शर्मा, राजेंद्र ढालिया, विजय, प्रवीण वर्मा, परमजीत सिंह, राजू, हेतराम, गुलशन मिड्ढा, संजय सुथार, दिनेश वास्तव, वीरेंद्र कारयानी, सीपी जोशी, वीरेन्द्रपाल शर्मा, भंवरलाल, श्रवण कुमार, महेश सेन, हरिप्रसाद, मोहन कोहली आदि मौजूद थे।