Wednesday, February 1निर्मीक - निष्पक्ष - विश्वसनीय
Shadow

एसीबी से की धक्का-मुक्की…पुलिस ने की पिटाई

भरतपुर। मेवात में लंबे समय से चल रहे फर्जी मेडिकल बनाने के भ्रष्टाचार के कारनामों के बीच अब एक और बड़ा खुलासा हुआ है। भ्रष्टाचार निरोधक ब्यूरो की टीम कार्रवाई करने पहुंची तो पहाड़ी के सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र पर जमकर हंगामा हो गया। लोगों ने डॉक्टर व दलाल को छुड़ाने का प्रयास किया। पहाड़ी अस्पताल में भरतपुर एसीबी टीम कार्रवाई करने के लिए पहुंची। एसीबी ने डॉक्टर मोहन सिंह को ट्रेप कर लिया, इस दौरान डॉक्टर के पास खड़े लोगों ने डॉक्टर को एसीबी से छुड़ाने का प्रयास किया। कुछ ही देर में अस्पताल में पहाड़ी थाना पुलिस पहुंच गई। पुलिस लोगों से धक्का-मुक्की करते हुए घूसखोर डॉक्टर और कुछ लोगों को हिरासत में लेकर थाने पर लेकर गई।
बताते हैं कि पहाड़ी राजेश और किरोड़ी का झगड़ा उनके ही परिवार के पप्पू नाम के व्यक्ति से हुआ था। इसके बाद पप्पू ने पहाड़ी थाने में शिकायत की थी। मामला दर्ज होने के बाद पप्पू का मेडिकल होना था। पप्पू के मेडिकल में ज्यादा चोटें नहीं आए। इसके लिए राजेश और किरोड़ी ने मेडिकल करने डॉ. मोहन सिंह से बात की, मोहन सिंह ने चोटें न दिखाने के एवज में 20 हजार रुपए रिश्वत मांगी। इस पर राजेश और किरोड़ी ने इसकी शिकायत भरतपुर एसीबी से की, एसीबी ने शिकायत के बाद उसको तय किया और आज राजेश और किरोड़ी को डॉक्टर के लिए 20 हजार रुपए रिश्वत के देने थे। जैसे ही उन्होंने डॉक्टर को रिश्वत दी तभी एसीबी ने डॉक्टर को रिश्वत लेते रंगे हाथों पकड़ लिया। एसीबी के ट्रेप करते ही डॉक्टर के आपसास खड़े लोग डॉक्टर को छुड़ाने की कोशिश करने लगे। एसीबी के अधिकारी उनसे डॉक्टर को बचाने की कोशिश कर ही रहे थे कि कुछ देर में पहाड़ी पुलिस मौके पर पहुंच गई और लोगों में थप्पड़ मारकर और धक्का-मुक्की कर डॉक्टर को भागने से रोका। इसके बाद एसीबी डॉक्टर और डॉक्टर को छुड़ाने वाले लोगों को थाने लेकर पहुंची जहां अभी कार्रवाई जारी है।