Thursday, December 1निर्मीक - निष्पक्ष - विश्वसनीय
Shadow

एपीसी ने किया प्रशिक्षण शिविर का निरीक्षण

  • द्वितीय चरण का एफएलएन आधारित छह दिवसीय प्रशिक्षण शिविर जारी
    हनुमानगढ़ (सीमा सन्देश न्यूज)।
    कक्षा एक से पांचवीं तक के बच्चों को पढ़ाने वाले अध्यापकों का द्वितीय चरण का एफएलएन आधारित छह दिवसीय प्रशिक्षण शिविर जिला मुख्यालय पर जारी है। अध्यापकों को बाल केन्द्रित शिक्षा, बालक की रूचि, क्षमता और स्तर के अनुसार शिक्षण करवाना, खेल-खेल में शिक्षण, गतिविधि आधारित शिक्षण, बालक की रूचि व मानसिक स्तर के अनुसार शिक्षण, शिक्षक मार्गदर्शक के रूप में, शिक्षक सुगमकर्ता के रूप, शिक्षक क्रियाक्लापों के क्रियान्वयन में सहायक, शिक्षक-छात्र का मैत्रीपूर्ण व्यवहार, प्रकरण का चयन बालक के स्तर के अनुसार, भयमुक्त वातावरण तैयार करना, गतिविधि का आयोजन करवाना आदि का प्रशिक्षण दिया जा रहा है। गुरुवार को प्रशिक्षण समग्र शिक्षा के एपीसी डॉ. सुरेन्द्र रॉयल ने शिविर का निरीक्षण कर व्यवस्थाएं देखीं। मीडियाकर्मियों से बातचीत करते हुए प्रशिक्षण समग्र शिक्षा के एपीसी डॉ. सुरेन्द्र रॉयल ने बताया कि इस प्रशिक्षण का मुख्य उद्देश्य कक्षा एक से पांच तक के बच्चों को पढ़ाने वाले अध्यापकों में गणित और भाषा शिक्षण के सन्दर्भ में दक्षताओं का विकास करना है। प्रशिक्षण स्थल पर बेहतर व्यवस्थाएं की गई हैं। प्रशिक्षणार्थी पूरे मनोयोग से प्रशिक्षण हासिल कर रहे हैं। प्रशिक्षण शिविर व्यवस्थापक रमेश मीणा ने बताया कि द्वितीय चरण का प्र्रशिक्षण 4 जुलाई से शुरू हुआ था जो 9 जुलाई तक चलेगा। कुल 99 अध्यापक प्रशिक्षण ले रहे हैं। चार चरणों में हनुमानगढ़ ब्लॉक के करीब 400 अध्यापकों को प्रशिक्षित किया जाएगा। यह अध्यापक विभिन्न विद्यालयों में जाकर बच्चों को एफएलएन आधाारित प्रशिक्षण के आधार पर शिक्षा देंगे ताकि बच्चों का सर्वांगीण विकास हो सके।