Saturday, December 10निर्मीक - निष्पक्ष - विश्वसनीय
Shadow

इस डच खिलाड़ी की बहादुरी बनी मिसाल, ऐसी हालत के बावजूद आया बैटिंग करने

नई दिल्ली
डच खिलाड़ी रोएल्फ वैन डर मर्व ने श्रीलंका के खिलाफ ग्रुप-ए के मैच में जिस तरह की बहादुरी दिखाई, उसने सबका दिल जीत लिया है। रोएल्फ चलने की हालत में भी नहीं थे, लेकिन उसके बावजूद बल्लेबाजी के लिए मैदान पर आए और इतना ही नहीं जिस तरह से उन्होंने आखिरी ओवर की तीसरी गेंद पर भागकर एक रन पूरा किया, उसके चर्चे अब दुनिया भर में हो रहे हैं। यह रन उनके खाते में भी नहीं गया, लेकिन अगर नीदरलैंड को जीतने की उम्मीद जिंदा रखनी थी, तो यह रन बहुत अहम था।
नीदरलैंड को जीत के लिए आखिरी ओवर में 23 रनों की जरूरत थी। वहीं नीदरलैंड ने 9 विकेट गंवा दिए थे और ऐसा लग रहा था कि रोएल्फ चोट के चलते मैदान पर नहीं उतर पाएंगे, लेकिन वह मैदान पर उतरे। वहीं दूसरे छोर पर मैक्स ओडाउड 48 गेंद पर 66 रन बनाकर खेल रहे थे। लहिरु कुमारा आखिरी ओवर फेंकने आए और ओडाउड पहली गेंद पर कोई रन नहीं ले पाए। अगली गेंद पर उन्होंने सिंगल लिया। दूसरे रन का कोई स्कोप नहीं बचा था।
रोएल्फ ने किसी तरह यह रन पूरा किया और उनका दर्द और बढ़ गया। अगली गेंद उनसे मिस हुई और वह ओडाउड को स्ट्राइक देने के लिए भाग पड़े। वह काफी दर्द में नजर आ रहे थे, लेकिन यह दर्द उन्होंने झेला और बाइ रन पूरा किया। आखिरी तीन गेंद पर चार ही रन आए और श्रीलंका ने 16 रनों से जीत दर्ज कर ली। इस तरह से श्रीलंका सुपर-12 में पहुंच गया।