Thursday, December 8निर्मीक - निष्पक्ष - विश्वसनीय
Shadow

आयुक्त ने एक लाख रिश्वत लेकर सफाईकर्मी को देकर भगाया

जोधपुर। कृषि भूमि की लीज डीड व व्यवसायिक पट्टा जारी करने की एवज में बाड़मेर जिले की बालोतरा नगर परिषद् के आयुक्त जोधाराम बिश्नोई ने गुरुवार को एक लाख रुपए रिश्वत लेकर सफाई कर्मचारी को सौंपे। जो रिश्वत राशि लेकर भाग गया। तभी भ्रष्टाचार निरोधक ब्यूरो जोधपुर की विशेष विंग ने दबिश देकर आयुक्त व उसके दलाल प्रकाश बिश्नोई को गिरफ्तार किया। रिश्वत राशि लेकर भागे सफाई कर्मचारी परसाराम की तलाश की जा रही है।
ब्यूरो की विशेष विंग के एएसपी दुर्गसिंह राजपुरोहित ने बताया कि बालोतरा में जबरदस्त हनुमान मंदिर की गली निवासी अनिल पुत्र कस्तूरचंद बोराणा की शिकायत पर नगर परिषद् बालोतरा के आयुक्त जोधाराम (42) पुत्र रामजीलाल बिश्नोई व जोधपुर में चौहाबो निवासी मध्यस्थ प्रकाश पुत्र सुखराम बिश्नोई को एक लाख रुपए रिश्वत लेने के आरोप में गिरफ्तार किया गया है। नगर परिषद् का सफाईकर्मी परसाराम रिश्वत के एक लाख रुपए लेकर भाग गया। जिसकी तलाश की जा रही है।
परिवादी अनिल ने 19 नवम्बर को एसीबी में लिखित शिकायत दी थी। आरोप है कि अनिल के पिता कस्तूरचंद व चाचा पारसमल के नाम से बालोतरा में कृषि भूमि का भूखण्ड है। 90बी में लीज डीड व व्यावसायिक पट्टा जारी करवाने के लिए 17 अक्टूबर को उसने आवेदन किया था। नगर परिषद् आयुक्त जोधाराम से मिला तो नियमन राशि के अलावा एक लाख रुपए रिश्वत मांगी। इस संबंध में मध्यस्थ प्रकाश से मिलने के निर्देश दिए। परिवादी ने अपने स्तर पर जांच की तो उसकी पत्रावली में नक्श विवरण अंकित कर दिया गया था। लिपिक ने लीज डीड व नियमन के 4,56,222 रुपए तय किए थे, लेकिन आयुक्त के हस्ताक्षर बाकी थे। मध्यस्थ से मिला तो एक लाख रुपए देने पर ही आयुक्त के हस्ताक्षर करने की जानकारी दी गई।