Friday, February 3निर्मीक - निष्पक्ष - विश्वसनीय
Shadow

आठवीं तक के बच्चों को मिलेगा दूध-यूनिफॉर्म, सीएम ने किया योजना का शुभारंभ

  • मुख्यमंत्री बाल गोपाल योजना और मुख्यमंत्री निशुल्क यूनिफॉर्म योजना का वर्चुअल शुभारंभ
    हनुमानगढ़ (सीमा सन्देश न्यूज)।
    राजस्थान के सरकारी स्कूलों में कक्षा एक से आठवीं तक के बच्चों को दूध मिलने का इंतजार अब खत्म हो गया है। मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने मंगलवार को जयपुर स्थित सीएमआर से मुख्यमंत्री बाल गोपाल योजना और मुख्यमंत्री निशुल्क यूनिफॉर्म योजना के वर्चुअल शुरुआत की। इस मौके पर सीएमआर में शिक्षा मंत्री डॉ. बीडी कल्ला, मुख्य सचिव उषा शर्मा और शिक्षा विभाग के अधिकारी मौजूद रहे। सभी जिला, ब्लॉक और ग्राम पंचायत स्तर पर प्रशासनिक अधिकारी वर्चुअल जुड़े। यह कार्यक्रम जिला, ब्लॉक, ग्राम पंचायत मुख्यालय एवं विद्यालय स्तर पर सूचना एवं प्रौद्योगिकी विभाग के माध्यम से वीसी के जरिए प्रसारित किया गया। हनुमानगढ़ जिला मुख्यालय पर कलक्ट्रेट सभागार में जिला कलक्टर रुक्मणि रियार, जिला प्रमुख कविता मेघवाल, पंचायत समिति प्रधान प्रतिनिधि दयाराम जाखड़, जिला शिक्षा अधिकारी माध्यमिक हंसराज जाजेवाल सहित अन्य जिला स्तरीय अधिकारी व जनप्रतिनिधि इन दोनों योजनाओं के वर्चुअल शुभारंभ के दौरान मौजूद रहे। वर्चुअल शुभारंभ के बाद अधिकारियों व जनप्रतिनिधियों ने टाउन स्थित सेठ राधाकृष्ण बिहाणी राजकीय बालिका उच्च माध्यमिक विद्यालय में आयोजित कार्यक्रम में हिस्सा लिया। यहां जिला कलक्टर रुक्मणि रियार, जिला प्रमुख कविता मेघवाल, विधायक प्रतिनिधि भूपेन्द्र चौधरी, प्रधान प्रतिनिधि दयाराम जाखड़ की ओर से मुख्यमंत्री बाल गोपाल योजना और मुख्यमंत्री निशुल्क यूनिफॉर्म योजना का शुभारंभ बालिकाओं को दूध पिलाकर व यूनिफॉर्म वितरण कर फिजिकली किया गया। इस मौके पर आयोजित कार्यक्रम में जिला कलक्टर रुक्मणि रियार ने बताया कि मुख्यमंत्री बाल गोपाल योजना में मिड-डे-मील योजनान्तर्गत राजकीय विद्यालयों, मदरसों एवं विशेष प्रशिक्षण केन्द्रों के कक्षा एक से 8 तक के छात्र-छात्राओं को सप्ताह में दो दिवस, मंगलवार एवं शुक्रवार को पाउडर मिल्क से तैयार दूध उपलब्ध कराया जाएगा। कक्षा एक से 5 तक के विद्यार्थियों को 15 ग्राम पाउडर मिल्क से तैयार 150 मिली तैयार दूध एवं कक्षा 6 से 8 तक के विद्यार्थियों को 20 ग्राम पाउडर मिल्क से तैयार 200 मिली तैयार दूध-चीनी मिलाकर पीने के लिए उपलब्ध कराया जाएगा। जिला कलक्टर ने बच्चों के पोषण के स्तर में सुधार के लिए शुरू की गई इस योजना को अनूठी पहल बताते हुए कहा कि इस योजना की नियमित मॉनिटरिंग की जाएगी। इसके जरिए सुनिश्चित किया जाएगा कि प्रत्येक बच्चे को गुणवत्ता युक्त दूध मिले। रियार ने मुख्यमंत्री निशुल्क यूनिफॉर्म वितरण योजना की जानकारी देते हुए बताया कि कक्षा एक से 8 तक के सभी विद्यार्थियों को यूनिफॉर्म फैब्रिक को 2 सैट निशुल्क दिए जाएंगे। विद्यार्थियों को यूनिफॉर्म सिलाई के लिए भी दो सौ रुपए की राशि उपलब्ध कराई जाएगी। इस योजना को शुरू करने के पीछे सरकार की मंशा है कि सभी बच्चे एकरूपता से स्कूल में आएं। गरीब-अमीर में कोई भेदभाव न हो।